scorecardresearch

मध्य प्रदेश: रायसेन की मस्जिद पर सोमेश्वर धाम होने का दावा, जानें क्‍या कहते हैं स्थानीय लोग

स्थानीय लोगों का कहना है कि सोमेश्वर मंदिर 1543 से बंद है। अब साल में सिर्फ एक दिन शिवरात्री पर ही मंदिर को खोला जाता है। लोगों की मांग है कि मंदिर को हमेशा के लिए खोल दिया जाए।

Someshwar Dham|Raisen Fort|Raisen
रायसेन किले पर सोमेश्वर मंदिर (फोटो सोर्स- PTI)

मध्य प्रदेश के रायसेन किले में सोमेश्वर महादेव मंदिर का मामला भी अब तूल पकड़ रहा है। स्थानीय लोग अब मांग कर रहे हैं कि साल में एक बार खुलने वाले इस मंदिर को हमेशा के लिए खोल दिया जाए, जो कि करीब 400 साल से बंद पड़ा है। सोमेश्वर महादेव के मामले को लेकर कुछ दिनों पहले वरिष्ठ बीजेपी नेता उमा भारती ने भी बयान दिया था।

सबसे पहले जानिए क्या है पूरा विवाद-
स्थानीय लोग और कुछ इतिहासकारों का दावा है कि रायसेन के सोमेश्वर धाम मंदिर को तोड़कर मस्जिद का निर्माण कर दिया गया था। मुस्लिम शासक शेर शाह सूरी ने 1543 में राजा पूरणमल को हराकर मंदिर में स्थापित शिवलिंग को हटा दिया और उस जगह पर एक मस्जिद बनवा दी। आजादी के बाद मंदिर-मस्जिद विवाद फिर खड़ा हुआ, जिसके बाद प्रशासन ने मंदिर पर ताला लगा दिया।

इसके बाद साल 1974 में मंदिर का ताला खुलवाने को लेकर एक बड़ा आंदलोन हुआ और तत्कालीन मुख्यमंत्री पीसी सेठी के हस्तक्षेप के बाद मंदिर का ताला खोला गया। इसके बाद, उन्होंने खुद महाशिवरात्री के मौके पर शिवलिंग की प्राण प्रतिष्ठा करवाई, तब से हर शिवरात्री पर मंदिर का ताला खोला जाता है।

स्थानीय लोगों का कहना है कि 1543 से यह मंदिर बंद है और सिर्फ एक दिन के लिए खोला जाता है। हम चाहते हैं कि हर रोज मंदिर को खोला जाए। हम चाहते हैं कि मंदिर खुले और भक्तों को दर्शन का मौका मिले। उनका कहना है कि मंदिर में ताले लगे हैं, जिस कारण लोगों की भावनाएं आहत होती हैं।

उन्होंने कहा कि एक दिन के लिए मंदिर खोला जाता है और दूर-दूर से लोग दर्शन के लिए यहां आते हैं। हिंदू जनमानस की तरफ से हमारी इच्छा है कि मंदिर के ताले जल्द से जल्द खोले जाएं।

उमा भारती ने मंदिर पहुंचकर जलाभिषेक करने की बात कहकर इस मुद्दे को हाईप्रोफाइल बना दिया था। उन्होंने कहा कि कहा जाता है कि नवरात्री के तुरंत बाद सोमवार को शिव जी का अभिषेक करना चाहिए। उन्होंने कहा, “मैं शिव जी के किसी सिद्ध स्थान को तलाश ही रही थी कि गंगोत्री से लाए गंगाजल से अभिषेक करूं। तभी मुझे एमपी में रायसेन के किले में एक ऐसे सिद्ध शिवलिंग की जानकारी मिली है।”

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट