ताज़ा खबर
 

MP में राहुल ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं से कहा- CM हो या मंत्री 15 मिनट में हटा देंगे, अगर उनके दरवाजे आप के लिए बंद रहे

राहुल गांधी ने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा, 'आपने अपना खून और पसीना लगाया है, यह मेरी जिम्मेदारी है कि आपको आश्वस्त करूं कि आपको सरकार से लाभ मिलेगा।' कार्यकर्ताओं की तालियों की गड़गड़ाहट के बीच राहुल ने कहा, 'अगर नेता आपके बीच नहीं रहेगा तो वह नेता नहीं रहेगा।'

भोपाल में पार्टी नेताओं के साथ कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी। (फोटो- पीटीआई)

मध्यप्रदेश के भोपाल में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार (17 सितंबर) को अपनी ही पार्टी के नेताओं को चेताया कि मंत्री और मुख्यमंत्री बनने पर कार्यकर्ताओं से दूरी बनाने पर वे कार्रवाई के लिए तैयार रहें। राहुल ने कहा कि जो भी मंत्री या मुख्यमंत्री बनता है, अगर उसके दरवाजे कांग्रेस कार्यकर्ताओं के लिए खुले नहीं रहते हैं तो वह 15 मिनट के भीतर न तो मंत्री रहेगा और न ही मुख्यमंत्री। राहुल गांधी ने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा, ‘आपने अपना खून और पसीना लगाया है, यह मेरी जिम्मेदारी है कि आपको आश्वस्त करूं कि आपको सरकार से लाभ मिलेगा।’ कार्यकर्ताओं की तालियों की गड़गड़ाहट के बीच राहुल ने कहा, ‘अगर नेता आपके बीच नहीं रहेगा तो वह नेता नहीं रहेगा।’ राहुल गांधी ने कहा कि अब कांग्रेस में दूसरी पार्टियों से आने वालों को चुनाव में टिकट नहीं मिलेगा। जिसने लाठी खाई, कांग्रेस की लड़ाई लड़ी, चुनाव में वही उम्मीदवार होगा। राहुल भोपाल में रोड शो के बाद भेल के दशहरा मैदान में कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस के सत्ता में आने पर सबसे पहली प्राथमिकता में किसान और नौजवान होंगे, दूसरे स्थान पर कार्यकर्ता और उसके बाद नेताओं का स्थान होगा।’ उन्होंने आगे कहा कि अब चुनाव में कांग्रेसी को ही प्राथमिकता मिलेगी। उन लोगों को किसी भी सूरत में उम्मीदवार नहीं बनाया जाएगा, जो दूसरी पार्टी से आते हैं। दूसरी पार्टियों से आने वालों का स्वागत है, मगर उन्हें उम्मीदवार नहीं बनाया जाएगा। राहुल गांधी ने किसानों के लिए ऋण छूट का वादा किया और कहा कि वह किसी अर्थशास्त्री की नहीं सुनेंगे।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सूबे की शिवराज सरकार पर बरसते हुए कहा कि मध्यप्रदेश किसान आत्महत्या, दुष्कर्म, बेरोजगारी में नंबर एक पर है लेकिन सीएम घोषणाओं पर घोषणाएं कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि शिवराज घोषणा मशीन बन गए हैं जो अब तक 21,000 घोषणाएं कर चुके हैं। व्यापम घोटाले का जिक्र करते हुए राहुल ने कहा, ‘व्यापम ने शिक्षा व्यवस्था को चौपट कर दिया। इस घोटाले से जुड़े 50 लोगों की हत्या हुई, ई-टेंडरिंग घोटाला हुआ। फिर घोटालों का सिलसिला चल पड़ा। राज्य में कांग्रेस की सरकार आने पर व्यापम और ई-टेंडरिंग घोटाले के आरोपियों को हम विजय माल्या की तरह भागने नहीं देंगे।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App