ताज़ा खबर
 

सीएम की तारीफ करते हुए गाली बक गए सांसद, मुस्‍कुराते रहे श‍िवराज स‍िंह चौहान

पिछले दिनों शिवराज की जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान उनके रथ पर पत्थर और चप्पल फेंकने की घटनाएं दर्ज की गईं। शिवराज को काले झंडे दिखाने की भी घटनाएं हुईं। इन्हीं घटनाओं का जिक्र करते हुए बीजेपी सांसद विरोधियों के लिए अपशब्द का इस्तेमाल कर गए।

वीडियो से लिया गया स्क्रीनशॉट। (Source: Youtube/ Sanjay Dubey)

मध्य प्रदेश के बुरहान और खंडवा में मुख्यमंत्री की जन आशीर्वाद यात्रा पहुंची तो पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और बीजेपी के मौजूदा सांसद नंदकुमार चौहान शिवराज सिंह चौहान की तारीफ करते-करते विरोधियों के लिए अपशब्द का इस्तेमाल कर गए। नंद कुमार चौहान ने जैसे ही मुंह से अपशब्द निकाला तो मंच पर बैठे सीएम शिवराज की भाव-भंगिमा ऐसी रही कि जैसे वह कह रहे हों- अरे जनाब यह क्या बोल दिया! शिवराज ने झटके से सिर झुकाया और चेहरे पर हाथ लगाकर मुस्करा दिए। इस वाकये का वीडियो Sanjay Dubey नाम के यूट्यूब ने साझा किया गया है। बता दें कि मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव नजदीक हैं, इसलिए सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी चुनाव से पहले जनता में इस भरोसे की टोह लेना चाहती है कि विगत वर्षों में राज्य में सरकार के द्वारा किए गए कामों से वह कितनी संतुष्ट है। इसी के साथ चौथे कार्यकाल के लिए शिवराज सरकार जनता के आर्शीवाद की उम्मीद कर रही है। पिछले दिनों शिवराज की जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान उनके रथ पर पत्थर और चप्पल फेंकने की घटनाएं दर्ज की गईं। शिवराज को काले झंडे दिखाने की भी घटनाएं हुईं। इन्हीं घटनाओं का जिक्र करते हुए बीजेपी सांसद विरोधियों के लिए अपशब्द का इस्तेमाल कर गए।

बीते (3 सितंबर) को शिवराज ने ऐसी घटनाओं को अंजाम देने वालों को कांग्रेस पार्टी का बताया था। शिवराज ने मीडिया से यहां तक कहा था, ”कांग्रेस मेरे खून की प्यासी हो गई है। एमपी की राजनीति में ऐसा कभी नहीं हुआ। विचारों का संघर्ष चलता था, अलग-अलग पार्टियां अपने-अपने कार्यक्रम करती थीं लेकिन कभी ये नहीं हुआ।” उन्होंने कहा था, ”मैं सोनिया गांधी, राहुल गांधी और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ से पूछना चाहता हूं कि वे कांग्रेस के किस दिशा में ले जाना चाहते हैं? उनका नेतृत्व और कार्यकर्ता जो कर रहे हैं क्या वह ठीक है?” शिवराज ने ये बातें बीते रविवार (2 सितंबर) की चुरहुट की घटना को लेकर कही थीं।

गुरुवार (6 सितंबर) को शिवराज सरकार के मुंह का स्वाद कसैला करने वाली एक खबर आई। इकोनॉमिक्स टाइम्स की खबर के मुताबिक मध्य प्रदेश में ई-टेंडर में सेंध लगाकर कुछ कंपनियों को लाभ पहुंचाया गया है। रिपोर्ट के मुताबिक 3000 करोड़ रुपये के घोटाले के बादल शिवराज सरकार पर मंडरा रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App