ताज़ा खबर
 

मध्य प्रदेश: भोपाल में लगे ज्योतिरादित्य सिंधिया को कांग्रेस अध्यक्ष बनाने के पोस्टर, विवाद शुरू

बता दें कि 2 दिन पहले पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने ट्वीट किया था कि राहुल गांधी के उत्तराधिकारी के रूप में पार्टी अध्यक्ष किसी युवा नेता के दिखने की उम्मीद है। इसके बाद भोपाल स्थित कांग्रेस मुख्यालय के बाहर ज्योतिरादित्य सिंधिया को पार्टी प्रमुख बनाने के पोस्टर लगे दिखाई दिए। हालांकि, बाद में इन पोस्टरों को हटा दिया गया

वो पोस्टर जो भोपाल में प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में लगाया गया था, बाद में हटा दिया गया।

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया को कांग्रेस अध्यक्ष बनाने के पोस्टर लगने की जानकारी सामने आई है। इसे लेकर विवाद शुरू हो गया है। हालांकि, बाद में इन पोस्टरों को हटा दिया गया। बता दें कि ये पोस्टर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के उस ट्वीट के 2 दिन बाद सामने आए, जिसमें उन्होंने लिखा था कि राहुल गांधी के उत्तराधिकारी के रूप में पार्टी अध्यक्ष किसी युवा नेता के दिखने की उम्मीद है।

इस मामले में सिंधिया के करीबी नेताओं का कहना है कि यह नैचुरल डिमांड है, लेकिन इसमें सिंधिया का कोई रोल नहीं है। राज्य के खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने कहा कि अगर राहुल गांधी अध्यक्ष बने रहते तो वह आदर्श स्थिति होती। हालांकि, जब वह इसके लिए तैयार नहीं हैं तो किसी न किसी को आगे आना होगा और सिंधिया इसके लिए पूरी तरह फिट हैं। वह युवा और एक्टिव हैं। साथ ही, देश में काफी लोग चाहते हैं कि वह इस जिम्मेदारी को निभाएं। तोमर ने कहा कि इस मामले में अंतिम फैसला कांग्रेस वर्किंग कमेटी ही लेगी।

National Hindi News, 09 July 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

गुना लोकसभा सीट से चुनाव हारने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया के करीबी पंकज चतुर्वेदी कहते हैं कि कांग्रेस कार्यकर्ता अभिव्यक्ति की आजादी का आनंद उठाते हैं और अपनी इच्छा जाहिर कर सकते हैं। पंकज का कहना है कि अंतिम फैसला पार्टी आलाकमान ही करेगा, लेकिन सिंधिया को राष्ट्रीय या राज्य स्तर पर बड़ा रोल मिलना चाहिए, क्योंकि वह योग्य हैं।

हालांकि, कमलनाथ के करीबी माने जाने वाले व पीडब्ल्यूडी मंत्री सज्जन सिंह वर्मा का कहना है कि गांधी-नेहरू परिवार के अलावा किसी अन्य के कांग्रेस अध्यक्ष के पद पर होने की कल्पना करना मुश्किल है। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी पार्टी नहीं संभालना चाहते हैं तो यह पद प्रियंका गांधी वाड्रा को सौंपना चाहिए। वह प्रगतिशील हैं और पार्टी अध्यक्ष बनने के लिए आदर्श प्रत्याशी हैं।

Next Stories
1 गुजरात: सरकारी प्रोजेक्ट की आलोचना पर पत्रकार और उसके परिवार पर हमला
2 Tik tok पर बनाया तबरेज अंसारी की हत्या का बदला लेने का वीडियो, मुंबई पुलिस ने कराया डिलीट, 3 अकाउंट सीज
3 कांग्रेस को एक और बड़ा झटका, अब गुजरात में 40 नेताओं ने दिया इस्तीफा
ये पढ़ा क्या?
X