scorecardresearch

MP: एक ही दिन में नेता जी बदल डाले तीन पार्टी, सुबह मायावती दोपहर पंजा और शाम में लगाने लगे कमल छाप जिंदाबाद

नेता जी सुंदर व‍िश्‍वकर्मा पथर‍िया नगर पर‍िषद के अध्‍यक्ष पद का चुनाव जीत गए हैं, लेकिन 12 घंटे के अंदर जो उन्होंने तीन दल बदले, इसकी चर्चा हर तरफ हो रही है।

MP: एक ही दिन में नेता जी बदल डाले तीन पार्टी, सुबह मायावती दोपहर पंजा और शाम में लगाने लगे कमल छाप जिंदाबाद
मध्य प्रदेश: नेता जी सुदंर लाल विश्वकर्मा ने 12 घंटे में बदलीं तीन पार्टियां। ( फोटो क्रेडिट: MP Tak)

मध्य प्रदेश के दमोह ज‍िले की पथर‍िया नगर पर‍िषद में कुछ कुछ ऐसा हुआ जिससे हर कोई हैरान है, क्योंकि एक ही दिन में नेताजी ने तीन पार्टियां बदल डालीं। सुबह को नेता जी सुंदर लाल विश्वकर्मा ने मायावती, दोपहर को कांग्रेस और शाम होते-होते नेता जी भारतीय जनता पार्टी जिंदाबाद के नारे लगाने लगे।

नेता जी सुंदर लाल विश्वकर्मा का जो वीडियो सामने आया है उसमें वो नारेबाजी करते हुए दिखाई दे रहे हैं। इस नारेबाजी से पहले नेताजी बीएसपी में थे और बीएसपी के पार्षद भी थे। साथ ही पथरिया से नगर पंचायत अध्यक्ष पद के लिए किस्मत आजमाने मैदान में उतरे थे, लेकिन वोटिंग से कुछ देर पहले नेता जी कांग्रेस में शामिल हो गए। कमलनाथ और कांग्रेस का जयकारा लगाने लगे।

वोटिंग हुई नेताजी ने चुनाव भी जीत लिया, लेकिन एक बार फिर नेता जी ने पलटी मार दी। इस बार वो बीजेपी में शामिल हो गए। उसके बाद वो बीजेपी का गुणगान करने लगे। अब नेता जी सुंदर लाल विश्वकर्मा नगर पंचायत अध्यक्ष बन गए हैं।

नेता जी सुंदर लाल विश्वकर्मा ने बताया कि संत दुबे के निर्देशानुसार उन्होंने भारतीय जनता पार्टी ज्वाइन की है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री देश में जनता की भलाई के लिए जो भी योजनाएं चला रहे हैं। उनको हम जन-जन तक पहुंचाएंगे। अब भारतीय जनता पार्टी के साथ रहेंगे। इसके बाद में नेता जी ने जय-जय श्रीराम का उद्घोष भी किया।

बता दें, पथर‍िया नगर पर‍िषद के अध्‍यक्ष सुंदर व‍िश्‍वकर्मा ने जीत की घोषणा के बाद वहां मौजूद भाजपा के वर‍िष्‍ठ नेता संतोष दुबे से कुछ बात की थी। अध्‍यक्ष के बाद उपाध्‍यक्ष का न‍िर्वाचन हुआ था, इसमें संतोष दुबे की पत्‍नी शोभारानी जो वार्ड 11 से पार्षद चुनी गई थीं। उन्‍हें उपाध्‍यक्ष चुन ल‍िया गया था। जीत के बाद अध्‍यक्ष, उपाध्‍यक्ष एक साथ बाहर न‍िकले। जुलूस के दौरान सुंदर व‍िश्‍वकर्मा कांग्रेस के बजाय भगवा गमछा में नजर आने लगे। कयास लगाए जा रहे थे कि सुंदर व‍िश्‍वकर्मा दबाव में बयान दे गए हैं, वे कांग्रेस में ही रहेंगे, लेक‍िन शन‍िवार दोपहर में उनकी भाजपा में ज्‍वाइन‍िंग पर मुहर लग गई।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 07-08-2022 at 10:21:22 pm