scorecardresearch

Madhya Pradesh: शिवराज सरकार में ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने अस्पताल में बुजुर्ग महिला के दबाए पैर, हाथ से खिलाया बिस्किट, वीडियो हो रहा वायरल

Madhya Pradesh, Pradhuman Singh Tomar: शिवराज के मंत्री का महिला मरीज के पैर दबाने का वीडियो काफी वायरल हो रहा है।

Madhya Pradesh: शिवराज सरकार में ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने अस्पताल में बुजुर्ग महिला के दबाए पैर, हाथ से खिलाया बिस्किट, वीडियो हो रहा वायरल
Pradhuman Singh Tomar: शिवराज के मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर अस्पताल में महिला मरीज के पैर दबाते हुए। (फोटो सोर्स: @PradhumanGwl)

Madhya Pradesh: मध्य प्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर (Pradhuman Singh Tomar) अपने किसी न किसी कार्य की वजह से चर्चा में बने रहते हैं। इस बार शिवराज सरकार (Shivraj Government) के मंत्री तोमर का एक वीडियो वायरल हो रहा है। जिसमें वो अस्पताल में एक बुजुर्ग महिला के पैर दबाते हुए नजर आ रहे हैं। इस दौरान उन्होंने मरीजों को अपने हाथ से चाय पिलाई और बिस्किट भी खिलाए।

सोमवार की देर शाम ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर(Pradhuman Singh Tomar) ग्वालियर के सिविल अस्पताल हजीरा (Hazira Civil Hospital in Gwalior) पहुंचे थे। इस मौके पर प्रद्युम्न सिंह तोमर ने कहा कि वो जनता के सेवक हैं। यहां मोतिबिंद का ऑपरेशन चल रहा है। मैं यहां की व्यवस्थाएं देखने आया हूं।

तोमर ने कहा कि मरीजों को किसी तरह की कोई दिक्कत न हो, मैंने मरीजों और उनके परिजनों का हाल जाना और उनकी दिक्कतों के बारे में पूछा। एक बुजुर्ग महिला ने बताया कि उसके पैरों में दर्द है तो मैंने उनके पैर भी दबाए। यह एक मानवता का कार्य है। मैं जनता की निरंतर सेवा करता रहूंगा, यही मेरा संकल्प है। इस दौरान तोमर पूरी रात अस्पताल में ही रुके रहे।

मंगलवार को सुबह तोमर ने मरीजों को नाश्ता परोसा और उनके साथ नाश्ता भी किया। शिविर में आए मरीज उनके इस व्यवहार से काफी खुश नजर आए। तोमर ने कहा कि मरीजों को जिन समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है, उसे समझने के लिए मैं यहां रुका हूं। मैं जनता को बेहतर स्वास्थ्य देखभाल सुविधाएं प्रदान करने के लिए पूरी कोशिश कर रहा हूं और इसके लिए मैं बाध्य हूं।

हजीरा सिविल अस्पताल में मोतियाबिंद उपचार शिविर के पहले दिन सात ऑपरेशन किए गए और 65 रजिस्ट्रेशन किए गए। तोमर ने कहा कि अस्पताल में आंखों के इलाज के लिए एक ऑपरेशन थियेटर, दो डायलिसिस यूनिट और एक मैकेनाइज्ड लॉन्ड्री शुरू की गई है।

ग्वालियर में स्वास्थ्य सुविधाओं के विकास कार्यों के बारे में बात करते हुए उन्होंने आगे कहा, ‘ग्वालियर में स्वास्थ्य के क्षेत्र में बहुत काम हुआ है। सिविल अस्पताल की हालत सुधरी है। यहां रोजाना करीब एक हजार मरीज आते हैं। इसके साथ ही बिड़ला नगर प्रसूति गृह के नए भवन का कार्य अंतिम चरण में है। प्रत्येक वार्ड के पास संजीवनी क्लिनिक खोले जा रहे हैं, जहां आप प्राथमिक उपचार प्राप्त कर सकते हैं और कई जांचें मुफ्त में की जाएंगी। बहोड़ापुर में भी 30 बेड के अस्पताल का काम चल रहा है।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 16-11-2022 at 06:05:49 pm
अपडेट