MP: चूहों ने कुतरी बुजुर्ग की लाश, परिजन बोले- 1 लाख वसूल कर भी शव पटक दिया

घटना से आक्रोशित परिजनों ने शव को अस्पताल के बाहर रखकर हंगामा कर दिया। मौके पर पहुंची पुलिस ने स्थिति को संभालने की कोशिश की।

dead body madhya pradesh indore news coronavirusवृद्ध के शव को चूहों द्वारा बुरी तरह से कुतर दिया गया था। (फाइल फोटो)

मध्य प्रदेश के एक अस्पताल में मानवता को शर्मसार करने वाली घटना सामने आयी है। दरअसल रविवार की रात एक 87 वर्षीय मरीज की मौत हो गई, जिसके बाद अस्पताल द्वारा शव को रखने में लापरवाही की गई और शव को चूहों ने कुतर दिया। सुबह परिजनों द्वारा एक लाख रुपए का बिल भरने के बाद ही शव सौंपा गया। जब परिजनों ने शव की हालत देखी तो उनके होश उड़ गए और उन्होंने हंगामा शुरू कर दिया।

खबर के अनुसार, घटना इंदौर की है। जहां के इतवारिया बाजार इलाके में रहने वाले नवीन चंद जैन (87 वर्ष) को बीती 17 सितंबर को सांस लेने में तकलीफ होने के बाद शहर के यूनीक अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। परिजनों के अनुसार, बुजुर्ग का कोविड वार्ड में इलाज चल रहा था। रविवार रात करीब 3 बजे परिजनों को उनकी मौत की सूचना दी गई।

परिजनों का दावा है कि अस्पताल की तरफ से कहा गया कि शव का अंतिम संस्कार नगर निगम की तरफ से किया जाएगा। इसके बाद परिजन जब अगले दिन अस्पताल पहुंचे तो शव को देखकर उनके होश उड़ गए। दरअसल शव के चेहरे और पैर में गंभीर घाव थे। दरअसल शव को चूहों द्वारा कई जगह से कुतर दिया गया था। जब परिजनों ने अस्पताल प्रशासन से इसकी शिकायत की तो उन्होंने गलती मानकर अपना पीछा छुड़ा लिया।

इसके बाद परिजनों से अस्पताल द्वारा एक लाख रुपए जमा कराए गए, जिसके बाद ही उन्हें शव सौंपा गया। घटना से आक्रोशित परिजनों ने शव को अस्पताल के बाहर रखकर हंगामा कर दिया। मौके पर पहुंची पुलिस ने स्थिति को संभालने की कोशिश की। वहीं इंदौर प्रशासन ने मामले की गंभीरता को देखते हुए घटना की मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दे दिए हैं।

बता दें कि इंदौर के अस्पताल में शव के साथ लापरवाही की यह पहली घटना नहीं है। इससे पहले जिले के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल महाराजा यशवंतराव हॉस्पिटल की मोर्चरी में भी एक शव 11 दिन तक ही स्ट्रेचर पर पड़ा रहा और वहीं पर पड़े-पड़े कंकाल में तब्दील हो गया। मोर्चरी से बदबू आने पर इस घटना के बारे में लोगों को पता चला। दरअसल लाश लावारिश थी और अस्पताल के कर्मचारी लाश को मोर्चरी में रखकर भूल ही गए।

Next Stories
1 डॉ.कफील खान ने प्रियंका गांधी से की मुलाकात, संयुक्त राष्ट्र को भी लिखा खत, कहा- आवाज दबाने को हो रहा एनएसए का इस्तेमाल
2 COVID-19 से ठीक हुआ कारोबारी, तो जागा सेवा भाव, करने लगा अस्पताल में वॉर्डबॉय की नौकरी
3 बिहार चुनाव: राजद के इतिहास में पहली बार होर्डिंग से लालू ग़ायब, है ये RJD अध्यक्ष की चुनावी चाल!
यह पढ़ा क्या?
X