scorecardresearch

सागर में एक ही सिरिंज से 30 छात्रों को लगा दी वैक्सीन, शिवराज सरकार ने दिए जांच के आदेश

Covid 19 Vaccination: इस मामले के बारे में जब पता चला तो हड़कंप मच गया। मौके पर मौजूद अधिकारी किसी तरह की प्रतिक्रिया देने से बचते नजर आए।

सागर में एक ही सिरिंज से 30 छात्रों को लगा दी वैक्सीन, शिवराज सरकार ने दिए जांच के आदेश
प्रतीकात्मक तस्वीर। (फोटो-इंडियन एक्सप्रेस/फाइल)

Covid 19 Vaccination: स्वास्थ्य महकमे में लापरवाही की खबरें अक्सर देखने को मिलती हैं। इसी तरह की लापरवाही का मामला मध्य प्रदेश के सागर में सामने आया है जहां एक स्‍कूल में कोव‍िड वैक्‍सीनेशन के दौरान एक ही स‍िर‍िंज से 30 बच्‍चों को वैक्‍सीन लगा दी गई। इस मामले के बारे में जब पता चला तो हड़कंप मच गया। मौके पर मौजूद अधिकारी किसी तरह की प्रतिक्रिया देने से बचते नजर आए।

प्रदेश के सागर ज‍िला मुख्‍यालय स्थित जैन पब्लिक स्कूल में बच्चों को कोरोना के खिलाफ वैक्सीन की डोज लगाने के लिए कैंप लगाया गया था। इसके लिए स्‍वास्‍थ्‍य व‍िभाग ने न‍िजी कॉलेज नर्स‍िंग कॉलेज एसवीएन में पढ़ाई करने वाले नर्स‍िंग के छात्रों की ड्यूटी लगाई थी। जानकारी के मुताबिक, बच्चों को वैक्सीन लगाने का काम शुरू हुआ तो थर्ड ईयर के एक छात्र ने बच्‍चों को वैक्‍सीन प्रारंभ किया।

सीएमओ ने दिए जांच के आदेश

इसके बाद, छात्र ने एक के बाद एक करीब 30 बच्‍चों को कोव‍िड वैक्‍सीन लगाई। लेकिन यहीं पर बड़ी लापरवाही हुई जब उसने एक ही सिरिंज से सभी 30 बच्चों को वैक्सीन की डोज लगा दी। इसका खुलासा तब हुआ जब एक छात्रा के प‍िता की नजर पडी। इसके बाद स्कूल में हंगामा हो गया। वहीं, उक्त छात्र भी मौके से गायब हो गया। इस लापरवाही पर बच्चों के परिजनों ने जमकर हंगामा किया। वहीं, इसकी सूचना ज‍िला प्रशासन तक पहुंची तो हड़कंप मच गया। इस मामले में सीएमओ ने जांच के आदेश दिए हैं।

इस मामले में जब थर्ड ईयर के छात्र ज‍ितेंद्र राज से पत्रकारों ने सवाल किया तो उसने कहा कि कॉलेज के एचओडी उसे कार से लेकर गए थे और उन्‍होंने एक ही स‍िर‍िंज दी थी, इसल‍िए सारे बच्‍चों को एक ही स‍िर‍िंज से वैक्सीन की डोज दी है।

वहीं, इंदौर में कोविड रोधी टीके की एक भी खुराक नहीं लेने वाली 27 वर्षीय महिला की संक्रमण की चपेट में आने के बाद मौत हो गई। यह महिला रक्त के गंभीर विकार और गुर्दे की बीमारी से पहले ही जूझ रही थी। अस्पताल के एक अधिकारी के मुताबिक, महिला को ‘पेनसाइटोपीनिया’ के रक्त विकार और गुर्दे की परेशानी के बाद एमआरटीबी अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उसने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.