ताज़ा खबर
 

मध्‍य प्रदेश: सीएम शिवराज सिंह पर पानी का गुब्‍बारा फेंक साधु ने दिया ‘शाप’

साधू ने दावा किया है कि उसने पानी का गुब्बारा फेंककर शिवराज सिंह चौहान को श्राप दिया है। गुब्बारा फेंकने के बाद वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने साधू को गिरफ्तार भी कर लिया गया, हालांकि पूछताछ के बाद साधू को छोड़ दिया गया।

शिवराज सिंह चौहान (file photo)

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर रैली के दौरान एक साधू ने पानी से भरा गुब्बारा फेंक दिया। साधू ने दावा किया है कि उसने पानी का गुब्बारा फेंककर शिवराज सिंह चौहान को श्राप दिया है। गुब्बारा फेंकने के बाद वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने साधू को गिरफ्तार भी कर लिया गया, हालांकि पूछताछ के बाद साधू को छोड़ दिया गया। वहीं पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था के बीच साधू द्वारा सीएम शिवराज सिंह चौहान पर गुब्बारा फेंके जाने की घटना से रैली के दौरान बवाल हो गया। जब पुलिस ने साधू को हिरासत में लेने की कोशिश की तो साधू पुलिसवालों से ही भिड़ गया और उसकी पुलिसवालों से जमकर बहस हुई।

बता दें कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज मध्य प्रदेश के राजगढ़ में एक रैली को संबोधित करने आए थे। इसी रैली के दौरान उन पर साधु ने पानी से भरा गुब्बारा फेंककर उन्हें श्राप देने का दावा किया। गुब्बारा फेंकने वाले साधू का कहना है कि वह परशुराम अखाड़े का राष्ट्रीय अध्यक्ष है। मध्य प्रदेश में हाल ही में दलित आंदोलन के दौरान हुई हिंसा से साधु नाराज बताया जा रहा है। यही वजह रही कि उसने आज रैली के दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर पानी से भरा गुब्बारा फेंककर श्राप देने का दावा किया है। इतना ही नहीं आरोपी साधु भाजपा सरकार से बेहद खिन्न नजर आया। मीडिया से बातचीत में साधु ने कहा कि गुजरात तो इन्होंने जैसे-तैसे निकाल लिया, लेकिन एमपी नहीं निकाल पाएंगे! साधु ने शिवराज सरकार पर दलितों की अनदेखी करने का भी आरोप लगाया। बता दें कि हाल ही में भारत बंद के दौरान मध्य प्रदेश में हुई हिंसा में 6 लोगों की जान चली गई थी।

बता दें कि मध्य प्रदेश में 2018 में ही विधानसभा चुनाव होने हैं और राज्य में इसे लेकर चुनावी गहमागहमी भी शुरु हो गई है। हालातों को देखते हुए माना जा रहा है कि इस बार शिवराज सिंह को आगामी विधानसभा चुनावों में कड़ी चुनौती मिल सकती है। उल्लेखनीय है कि बीते दिनों राज्य में 2 विधानसभा सीटों पर हुए उप-चुनावों में कांग्रेस को जीत मिली थी, जिसके बाद से मध्य प्रदेश में विपक्षी कांग्रेस पार्टी के हौंसले बुलंद हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App