ताज़ा खबर
 

VIDEO: नगर निगम ने सफाई नहीं की तो खुद नाले में उतरे कमलनाथ के मंत्री, कमर तक कीचड़ में घुस यूं चलाया फावड़ा

मंत्री तोमर ने कहा, ‘‘इसे ‘पब्लिसिटी स्टंट’ न समझा जाए क्योकि मैं रोड पर नहीं, बल्कि ऐसे इलाकों में जाकर सफाई कर रहा हूं, जहां पर वास्तव में गंदगी है।’’ गौरतलब है कि मंत्री पिछले पांच दिन से शहर के कई इलाकों में जाकर इसी प्रकार से सफाई कर रहे हैं।

Author ग्वालियर | Published on: November 4, 2019 8:22 AM
कमलनाथ सरकार में मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर फोटो सोर्स -सोशल मीडिया

मध्य प्रदेश के ग्वालियर नगर निगम के अफसरों ने शहर के बिरला नगर इलाके की सफाई नहीं की तो राज्य के खाद्य नागरिक आपूर्ति मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर खुद ही सफाई करने के लिए सुबह-सुबह कमर तक गंदे पानी से भरे नाले में उतरे और फावड़े से कीचड़ निकाला। काफी देर मंत्री तोमर ने नाली की सफाई की और इसकी भनक लगने के बाद ग्वालियर नगर निगम कमिश्नर संदीप माकिन ने इसके लिए जिम्मेदार इलाके के तीन अधिकारियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया।

कीचड़ से कूदे थे मंत्री जी: इस दौरान मंत्री ने हाथों एवं पैरों में इस कीचड़ से बचने के लिए सुरक्षा की दृष्टि से कोई दस्ताने भी नहीं पहने थे। इसका वीडियो भी सोशल मीडिया में वायरल हो गया है। तोमर ने बताया, ‘‘बिरला नगर न्यू कॉलोनी की महिलाओं ने मुझसे शिकायत की थी कि नालियों का गंदा पानी घरों में घुस रहा है। जब निगम कर्मचारी सफाई करने नहीं पहुंचे तो रविवार सुबह मैं खुद ही सफाई करने पहुंच गया। इस गंदगी के कारण लोग बीमार हो रहे हैं और मैं लोगों की तकलीफें नहीं देख सकता।’’

Hindi News Today, 04 November 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

दिखावा नहीं है सफाई: मंत्री तोमर ने कहा, ‘‘इसे ‘पब्लिसिटी स्टंट’ न समझा जाए क्योकि मैं रोड पर नहीं, बल्कि ऐसे इलाकों में जाकर सफाई कर रहा हूं, जहां पर वास्तव में गंदगी है।’’ गौरतलब है कि मंत्री तोमर पिछले पांच दिन से शहर के कई इलाकों में जाकर इसी प्रकार से सफाई कर रहे हैं। शनिवार को ग्वालियर रेलवे स्टेशन के शौचालय में सफाई करने पहुंच गए थे और गंदगी मिलने पर रेलवे अफसरों को जमकर फटकार भी लगाई थी।

नगर निगम की सफाई: इसी बीच, नगर निगम ग्वालियर के कमिश्नर संदीप माकिन ने कहा, ‘‘मंत्री जी को खुद नाली में उतरकर सफाई करनी पड़ी। इसके लिए खेद व्यक्त करता हूं। लेकिन उसके बाद तुरंत कार्रवाई की गई और नाली की सफाई कर दी गई है। इसके साथ उस वार्ड के जिम्मेदार क्षेत्राधिकारी राजेश परिहार, सहायक स्वास्थ्य अधिकारी गौरव सेन और वार्ड स्वास्थ्य अधिकारी आकाश करोसिया को निलंबित कर दिया गया है।’’

बीजेपी का तंज: वहीं, ग्वालियर के पूर्व महापौर और भाजपा सांसद विवेक शेजवलकर ने कहा कि ‘मंत्री तोमर की भावना की सफाई होनी चाहिए, लेकिन नगर निगम के पास पूरा सफाई अमला है और उनसे काम करना चाहिए, न कि सड़कों पर उतरना चाहिए। शेजवलकर ने कहा कि लोगों को प्रेरित करने के लिए अच्छा कदम है, लेकिन खुद सफाई करने की बजाय मौके पर ही निगम कर्मचारियों और अफसरों को बुलाकर सफाई करवाना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
ये पढ़ा क्या?
X
Testing git commit