ताज़ा खबर
 

मध्य प्रदेश: सीएम कमलनाथ के गढ़ छिंदवाड़ा में दूषित पानी पीने से 3 की मौत, 50 की हालत गंभीर

छिंदवाड़ा में हैंडपंप का दूषित पानी पीने से तीन लोगों की मौत का मामला सामने आया है। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने हैंडपंप के पानी को इस्तेमाल करने से मना कर दिया है।

Author छिंदवाड़ा | Updated: September 23, 2019 11:14 AM
madhya pradeshप्रतीकात्मक फोटो (सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

मध्यप्रदेश जिला मुख्यालया से लगभग 20 किलोमीटर दूर चाहिन्या कला गांव में एक हैंडपंप का दूषित पानी पीने से तीन लोगों की मौत हो गई है। बता दें कि इस दूषित पानी के इस्तेमाल से 50 से अधिक लोग उल्टी-दस्त से पीड़ित भी हो गए है। उल्टी और दस्त से पीड़ित 25 लोगों का उपचार जिला अस्पताल में चल रहा है और शेष लोगों को जांच के बाद छुट्टी भी दे दी गई है। यह मामला शनिवार (21 सितंबर) की शाम का है। इसमें बयान देते हुए जिले के अतिरिक्त कलेक्टर राजेश शाही ने रविवार (22 सितंबर) को बताया कि पिंडरईकला के ग्राम चान्हिया कला गांव में लगे एक हैंडपंप से दूषित पानी पीने से दो बुजुर्ग महिलाओं की मौत हो गई। महिलाओं की पहचान 80 वर्षीय रमौली उसरेठे और 50 वर्षीय मीरा के रुप में हुई है। वहीं चार वर्षीय बालिका रिशिना ईवनाती की भी मौत हुई है।

दो बुजुर्ग महिला समेत बच्ची की मौतः कलेक्टर राजेश शाही ने बताया कि 50 से अधिक उल्टी-दस्त से बीमार लोगों को शहर के निजी और जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहां 25 लोगों का उपचार अब भी चल रहा है। उन्होंने यह भी बताया कि प्राथमिक जांच में सामने आया है की गांव के लोग ने हैंडपंप के पानी का सेवन किया था जिसके चलते डायरिया फैलने की शिकायत सामने आई है। मामले की जांच चल रही है। बता दें कि स्वास्थ्य विभाग की टीम ने जांच के बाद लोगों को हैंडपंप के पानी का सेवन नहीं करने की बात की है। इसके लिए पंचायत को भी जानकारी दी गई है ताकि वे लोगों को इसके इस्तेमाल को लेकर जागरूकता फैला दें।

National Hindi News, 23 September 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

स्वास्थ्य विभाग की टीम जुटी है इलाज मेंः अधिकारी ने बताया कि खबर लगते ही मैं स्वयं, तहसीलदार महेश अग्रवाल, पीएचई अधिकारी सहित स्वास्थ्य विभाग की टीम मौके पर पहुंची। बीमार लोगों के इलाज के लिए शिविर लगाकर जांच की गई और दवाइयों का वितरण भी किया गया। बता दें कि बच्ची की मौत डायरिया के कारण हुई है या कोई अन्य कारण है इस पर अभी कोई खुलासा नहीं हुआ है। वहीं दोनों बुजुर्ग महिला में से एक की मौत घर में ही हो गई थी वहीं दूसरी की मौत अस्पताल में हुई है।

पानी के नमूने की जांच की जा रही हैः मामले में एडीएम ने नाजकारी देते हुए बताया कि पीएचई विभाग द्वारा पानी का नमूना लेकर जांच के लिए भेज दिया गया है। रिपोर्ट आने के बाद स्पष्ट होगा कि पानी के कारण लोग बीमार हुए है या फिर और कोई कारण है। बता दें कि जांच के लिए इलाके में स्वास्थ्य विभाग की टीम का कहना है कि हैंडपंप के पास काफी गंदगी है और इसमें बारिश के पानी के साथ नाली का पानी भी सीपेज हो रहा है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 India आई थीं पूर्व CJI की बेटी, फ्लाइट की तारीख बदली तो Air India ने वसूले 574 डॉलर, अब देना होगा 60 हजार रुपए जुर्माना
2 बीजेपी के मंच पर भिड़ गईं 3 महिला पार्षद और उनके पति, भाषण दिए बिना लौटे पूर्व अध्यक्ष
3 Haryana: बारिश से बचने के लिए पेड़ के नीचे रूके थे, बिजली गिरने से पति-पत्नी समेत 3 की मौत
ये पढ़ा क्या?
X