ताज़ा खबर
 

ट्रैक्टर पर लगे सोफा पर बैठ घूम रहे राहुल गांधी, नहीं जानते कि प्याज जमीन के ऊपर होता है या नीचे- शिवराज सिंह का तंज

शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस नेता कमलनाथ पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्होंने पूरे राज्य को भ्रष्टाचार और बिचौलियों का केंद्र बना दिया।

Madhya Pradesh, Shivraj Singh Chouhanमध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कृषि कानून का भी बचाव किया।

कृषि कानून को अस्तित्व में आए हुए अब 15 दिन से ज्यादा हो चुके हैं। हालांकि, इसे लेकर पंजाब और हरियाणा के कृषि संगठन लगातार विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। कुछ अन्य जगहों पर भी चुनाव और उपचुनाव के मौके को देखते हुए विपक्ष इस मुद्दे को भुनाने की कोशिश कर रहा है। इस बीच हाल ही में कांग्रेस नेता राहुल गांधी की एक तस्वीर काफी वायरल हुई थी, जिसमें उन्हें गद्देदार सीट वाले ट्रैक्टर में बैठकर प्रदर्शन के लिए जाते देखा गया था। अब इस पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने तंज कसा है। उन्होंने कहा है कि राहुल गांधी खेती, किसानी जानते नहीं, लेकिन भ्रम फैलाने में जुटे हैं।

क्या थी शिवराज सिंह की पूरी बात: शिवराज सिंह चौहान ने मध्य प्रदेश में उपचुनाव से पहले कांग्रेस के प्रदर्शनों पर गुस्सा जताते हुए कृषि कानून को लेकर भ्रम फैलाने का आरोप लगाया। साथ ही कहा कि एक तरफ राहुल गांधी ट्रैक्टर पर सोफा लगाकर घूम रहे हैं। खेती जानें नहीं, किसानी जाने नहीं। पता नहीं कि प्याज जमीन के ऊपर होता है या नीचे होता है। ये तीन कृषि बिल किसानों के हित में हैं, किसानों की आय दोगुनी करने के लिए हैं।

शिवराज यहीं नहीं रुके। उन्होंने कांग्रेस नेता कमलनाथ पर निशाना साधते हुए कहा, “उन्होंने (कमलनाथ) पूरे राज्य को भ्रष्टाचार और बिचौलियों का केंद्र बना दिया। कर्जमाफी के बहाने किसानों को धोखा दिया गया और पूर्व मुख्यमंत्री ने उन्हें 6,000 करोड़ रुपये का पूरा भुगतान नहीं किया। उन्होंने मेरी पिछली सभी योजनाओं को भी बंद कर दिया।”

क्यों भड़के सीएम शिवराज?: शिवराज सरकार ने हाल ही में किसानों को राहत देते हुए ही मंडी टैक्स में कटौती किए जाने का फैसला किया था। इसीपर कांग्रेस ने एक दिन पहले हंगामा किया। कांग्रेस का दावा है कि मंडी शुल्क में कमी का निर्णय बिजली बिल माफी की घोषणा की तरह ही बड़ा धोखा है। यह किसानों के हितों के साथ बंद कमरे में चुनावी सौदा है। एक तरफ किसान विरोधी काले कानून, मंडी मॉडल ऐक्ट और दूसरी तरफ व्यापारियों के साथ भी धोखा। शिवराज सरकार किसान और व्यापारी दोनों की विरोधी है। शिवराज सरकार की बिजली बिल की तरह ही मंडी शुल्क में कटौती सिर्फ चुनावी लॉलीपॉप, यह भी धोखा ही साबित होगा। माना जा रहा है कि 3 नवंबर को होने वाले उपचुनाव से पहले कांग्रेस के इन्हीं आरोपों पर सीएम शिवराज सिंह चौहान भड़क उठे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Bihar Elections 2020:…तो नक्सलियों से कह थाना ही उड़वा देंगे- तेजस्वी यादव की RJD के MLA का VIDEO वायरल
2 भीमा-कोरेगांव केस: 83 साल के फादर स्टैन स्वामी गिरफ्तार, NIA की टीम ने दिल्ली से रांची जाकर उठाया
3 Bihar Elections 2020: पिता का हुआ अपमान, मुझे कहा ‘कालिदास, दलाल’, कैसे आ सकता था साथ- BJP चीफ को लिखा LJP के चिराग पासवान का लेटर लीक
आज का राशिफल
X