ताज़ा खबर
 

मध्यप्रदेश में उपचुनाव से पहले ‘मामा’ ने चला बड़ा दांव- किसानों के लिए सहकारी बैंकों को 0% ब्याज पर ट्रांसफर किए 800 करोड़ रुपए

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कृषि से जुड़े जो तीन विधेयक संसद में पास हुए हैं, वे किसानों के हित में हैं और इससे किसानों का फायदा होगा और वे सशक्त बनेंगे।

Author Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र भोपाल | Updated: September 22, 2020 10:29 PM
Madhya Pradesh, Shivraj Singh Chouhanमध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कृषि कानून का भी बचाव किया।

मध्य प्रदेश में विधानसभा की 28 सीटों पर होने वाले उपचुनाव से पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किसानों के लिए बड़े ऐलान किए हैं। सीएम ने बताया कि राज्य सरकार ने सहकारी बैंकों को 800 करोड़ रुपए की राशि भी ट्रांसफर की है, ताकि किसानों को शून्य प्रतिशत ब्याज दर पर ऋण दिया जा सके। इतना ही नहीं सीएम ने केंद्र सरकार की तरफ से किसानों को मिलने वाली सम्मान राशि को 4 हजार रुपए बढ़ाने का ऐलान किया है। यानी पहले जहां किसानों को वार्षिक तौर पर केंद्र की तरफ से 6 हजार रुपए मिलते थे, वहीं अब उन्हें एक साल में कुल 10 हजार रुपए की मदद मिलेगी।

शिवराज ने किसानों के लिए इन बड़ी घोषणाओं को करने के साथ ही उन्हें कृषि विधेयकों के प्रति भी आश्वस्त किया। सीएम ने कहा कि मंडियां बंद नहीं होंगी, ये पहले की तरह चलती रहेंगी। किसान अपनी उपज चाहे खेत से बेचे, प्राइवेट मंडियों में बेचे या वेयरहाउस से ही बेच दे। किसान को जहां ज्यादा कीमत मिलेगी, वहां पर अपना माल बेचने के लिए स्वतंत्र है। समर्थन मूल्य पर उपज की खरीदी जारी रहेगी। उन्होंने कहा कि कृषि से जुड़े जो तीन विधेयक संसद में पास हुए हैं, वे किसानों के हित में हैं और इससे किसानों का फायदा होगा और वे सशक्त बनेंगे।

शिवराज ने आगे कहा कि किसानों के समग्र विकास की दृष्टि से हमने ये फैसला किया है कि इनके हित में जो योजनाएं चलाई जा रही हैं, जैसे- RCB6(4)के अंतर्गत राहत देना, पीएम किसान सम्मान निधि, शून्य प्रतिशत ब्याज पर ऋण देना, प्रधानमंत्री फसल बीमा आदि सभी योजनाओं को एक पैकेज के रूप में समाहित करके लागू करेंगे। हम किसानों के कल्याण के लिए कृत संकल्पित हैं।

सीएम ने बताया कि शून्य ब्याज दर पर ऋण की योजना को हमारी सरकार ने फिर से लागू किया। किसान सम्मान निधि और बीमा योजना का पूरा हितलाभ दिया। खाद्यान्न उपार्जन कर 27 हजार करोड़ से अधिक भुगतान किया। शिवराज ने भरोसा दिया कि वे 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 केजरीवाल सरकार को हाईकोर्ट से झटका, प्राइवेट अस्पतालों को कोरोना रोगियों के लिए बेड आरक्षित करने के आदेश पर लगी रोक
2 कृषि बिल विवादः नहीं थम रहा विरोध! मनसा में किसानों ने बनाई BJP नेताओं, कार्यकर्ताओं की ‘लिस्ट’, करेंगे सामाजिक बहिष्कार
3 UP में फिल्म सिटीः CM योगी ने सिने शख्सियतों संग की डिजिटल बैठक, SP चीफ का तंज- ‘फ्लॉप पिक्चर’ आने वाली है
यह पढ़ा क्या?
X