ताज़ा खबर
 

मामू, ऐसा क्या कारोबार है आपका कि इतनी बढ़ गई दौलत? दिग्विजय सिंह ने शिवराज से पूछा, हुए ट्रोल

शिवराज चौहान करीब 16 साल पहले जब विदिशा से सांसद थे तब उनके पास 58 लाख रुपए की संपत्ति थी।

madhya pradesh by election 2020कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह। (पीटीआई)

मध्य प्रदेश में 28 विधानसभा सीटों पर तीन नवंबर को उप चुनाव होने हैं। प्रदेश की सत्तापक्ष भाजपा और विपक्षी दल कांग्रेस ने इन सीटों पर चुनाव जीतने के लिए पूरी ताकत लगा दी है। दोनों पार्टियां एक दूसरे के नेताओं के खिलाफ लगातार बयानबाजी कर रही हैं। इसी क्रम में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने सीएम शिवराज सिंह चौहान की सपंत्ति में बढ़ोतरी को लेकर उनपर निशाना साधा है। कांग्रेस नेता ने ट्वीट कर पूछा, ‘मामा उर्फ मामू आपका ऐसा कौन सा कारोबार है जिससे आपने अपनी संपत्ति 13 गुना बढ़ा ली।’

साल 2018 के विधानसभा चुनाव में सीहोर जिले की बुधनी सीट से अपने नामांकन के समय दिए हलफनामे में शिवराज चौहान ने बताया कि उनके पास कुल 7.66 करोड़ की सपत्ति है। 2013 में दाखिल किए हलफनामे में उन्होंने अपनी संपत्ति 6.27 करोड़ रुपए बताई और 2008 में 1.23 करोड़ रुपए बताई। शिवराज चौहान करीब 16 साल पहले जब विदिशा से सांसद थे तब उनके पास 58 लाख रुपए की संपत्ति थी। 2004 के लोकसभा चुनाव में उन्होंने अपनी और पत्नी के पास कुल चल-असल संपत्ति 58.14 लाख रुपए बताई थी। दिग्विजय सिंह ने इन्हीं आंकड़ों पर शिवराज चौहान पर निशाना साधा है और पूछा कि उन्होंने अपनी संपत्ति में इतना इजाफा कैसे कर लिया।

दरअसल उप चुनाव में एक कांग्रेस नेता की टिप्पणी के बाद शिवराज खुद को गरीब नेता के तौर पर पेश कर रहे हैं। हाल में चुनाव प्रचार के दौरान कांग्रेस नेता दिनेश गुर्जर ने सीएम शिवराज को कथित तौर पर ‘भूखे नंगे घर का’ कहा। इसे भाजपा ने चुनावी हथियार की तरह इस्तेमाल किया और ‘गरीब होना गुनाह है तो मैं भी शिवराज’ #mainbhishivraj अभियान चला दिया। दिग्विजय सिंह के इस ट्वीट को राज्य में डैमेज कंट्रोल के रूप में देखा जा रहा है। इसी लिए उन्होंने ट्वीट कर शिवराज की संपत्ति से जुड़ा सवाल पूछा।

हालांकि ट्वीट के बाद पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ गए हैं। ट्विटर यूजर राजेंद्र श्रीवास्तव @Rajendr86370580 लिखते हैं, ‘सभी राजनेता जनता को बेवकूफ और खुद को समझदार समझते हैं। मगर लोग अब समझदार हो गए हैं।’ मन मोहन झा @MANMOHANJHA2 लिखते हैं, ‘आपने अपने दोस्त लालू के बेटे से नहीं पूछा कि सम्पत्ति चार गुना कैसे बढ़ गई जबकि सत्ता में कुछ महीने ही रहे। अरे उस आदमी को सवाल पूछने का कोई अधिकार ही नही है जिसकी पार्टी पर घोटालों के अनगिनत आरोप लगे हों और जो सजायाफ्ता लालू का सहयोगी हो।’

ऐसे ही देवीदास पाटिल @TheDSPatil लिखते हैं, ‘राजनीति एक बिजनेस है और आप इससे अच्छी तरह अवगत हैं।’ उपेंद्र त्रिपाठी @upendratripat20 लिखते हैं, ’15 सालों से सीएम हैं उनकी सैलरी और डिपॉजिट से भी मिला होगा। किसान भी है तो वहां से इनकम मिलेगा। थोड़ा पढ़ भी लिया करो लिखने से पहले, ठीक है।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Bihar Elections 2020 के लिए Congress ने रवीश कुमार के भाई को दिया टिकट, विवादों में आ चुका है नाम; लोग बोले- शर्म की बात है…
2 Bihar Elections 2020: नहीं रहे कोरोना संक्रमित मंत्री कपिल देव कामत, शपथ के दौरान ठीक से नहीं पढ़ पाए थे लाइन; बहू को JDU ने बनाया कैंडिडेट
3 बिहार चुनाव: बीजेपी बनेगी सबसे बड़ी पार्टी? हर बार बढ़ा वोट प्रतिशत, 2015 में 24% वोट लाकर भी रही पीछे
यह पढ़ा क्या?
X