ताज़ा खबर
 

वीडियो: बीजेपी विधायक ने कहा- अफगानिस्‍तान की क्रिकेट टीम जैसी है कांग्रेस

मध्य प्रदेश के सुरखी से विधायक पारुल साहू ने कांग्रेस पार्टी की तुलना अफगानिस्तान की क्रिकेट टीम से की है। पिछले दिनों भारत और अफगानिस्तान के बीच खेले गए टेस्ट मैच का हवाला देते हुए उन्होंने कांग्रेस पार्टी पर व्यंग्य कसा। पारुल साहू ने कहा कि जैसे भारत ने एक ही दिन में अफगानिस्तान को दो-दो बार हरा दिया था वैसी ही हालत कांग्रेस की हो गई है।

मध्य प्रदेश के सुरखी से विधायक पारुल साहू की फाइल फोटो। (फोटो सोर्स- फेसबुक)

मध्य प्रदेश के सुरखी से विधायक पारुल साहू ने कांग्रेस पार्टी की तुलना अफगानिस्तान की क्रिकेट टीम से की है। पिछले दिनों भारत और अफगानिस्तान के बीच खेले गए टेस्ट मैच का हवाला देते हुए उन्होंने कांग्रेस पार्टी पर व्यंग्य कसा। पारुल साहू ने कहा कि जैसे भारत ने एक ही दिन में अफगानिस्तान को दो-दो बार हरा दिया था वैसी ही हालत कांग्रेस की हो गई है। एक कार्यक्रम में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की तारीफ में कसीदे पढ़ने से पहले पारुल साहू ने जनता से कहा, ”आज मध्य प्रदेश में और देश में ऐसी स्थिति आ गई है.. सभी ने कुछ समय पहले देखा होगा कि भारत और अफगानिस्तान के बीच में टेस्ट मैच हुआ था, उस टेस्ट मैच में भारत ने अफगानिस्तान को एक ही दिन मों दो-दो बार ऑलआउट कर दिया था। उसी तरह की स्थिति आज पूरे देश में और मध्य प्रदेश में है कि चुनाव चाहे कभी भी हों, कांग्रेस और भाजपा के बीच में.. लेकिन भाजपा एक ही समय में कांग्रेस को दो-दो बार आउट करने की क्षमता रखती है। दो-दो बार आउट करने का मतलब विधानसभा में भी और साथ ही साथ लोकसभा में भी, क्योंकि आज कांग्रेस का कोई अस्तित्व नहीं बचा है, कांग्रेस के पास कोई बात ही नहीं रह गई है और इतनी खराब स्थिति में कांग्रेस आ गई है मध्य प्रदेश में..

मुख्यमंत्री के लिए नाम उनके पास नहीं है कि कांग्रेस पार्टी से अगर कोई मुख्यमंत्री बने.. मैं नहीं मानती हूं.. क्षमता नहीं है किसी में.. और अगर कोई हो तो संभावित नाम भी नहीं है, इतनी बुरी स्थिति में कांग्रेस पहुंच गई है मध्य प्रदेश में। मैं माननीय मुख्यमंत्री जी का इस मंच से आभार करती हूं कि उन्होंने मध्य प्रदेश में जो कर दिखाया है वो पूरे देश में किसी भी राज्य में नहीं हुआ है।” संदीप शुक्ला रतनगढ़ नाम की यूट्यूब प्रोफाइल के द्वारा शेयर किए गए पारुल साहू के वीडियो में 3:21 मिनट वाले हिस्से से यह बात सुनी जा सकती है।

बता दें कि मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव निकट हैं, उम्मीद की जा रही है इस साल के अंत तक चुनाव होंगे। ऐसे में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस के बीच इस बात की होड़ लगी है कि कैसे मतदाताओं को लुभाया जाए। शिवराज सरकार जहां सूबे में अपनी बादशाहत कायम रखने की आस में जनता के बीच जा रही है तो अर्से से प्रदेश में सत्ता से दूर कांग्रेस सरकार के प्रति पनप रहे किसानों के असंतोष, किसान आत्महत्याओं समेत कई मुद्दों को भुनाने की हस संभव कोशिश में लगी है।

पिछले दिनों सूबे में कांग्रेस के भीतर ही पनप रहे अलगाव और गुटबाजी को खत्म करने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को कमान सौंपी थी, जिसके लिए पार्टी की एकता यात्रा शुरू हुई। एकता यात्रा के माध्यम से पार्टी दावा कर रही है कि आने वाले चुनाव में भाजपा को मुंह की खानी पड़ेगी। इसी साल राज्य की दो विधानसभा सीटों मुंगावली और कोलारस में हुए उपचुनाव में कांग्रेस की जीत ने भाजपा की पेशानी पर बल ला दिया था, लिहाजा शिवराज चौहान भी जनता के बीच खूब देखे जा रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पिछले वर्ष पारुल साहू ने आगे से चुनाव मैदान में नहीं उतरने की घोषणा की थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App