ताज़ा खबर
 

भोपाल में एक शख्स ने खरीदा फ्लैट, बेड के अंदर मिला 6 महीने पुराना महिला का शव

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। जहां एक फ्लैट के अंदर करीब छह महीने से रखी लाश बरामद हुई है।

Author February 4, 2019 2:49 PM
प्रतीकात्मक फोटो, फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। जहां एक फ्लैट के अंदर करीब छह महीने से रखी लाश बरामद हुई है। जानकारी के मुताबिक लाश दीवान के अंदर रजाई में लपेटकर रखी गई थी। वहीं प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि ये फ्लैट जून 2018 से बंद हैं और इसके बाद से ही फ्लैट के मालिक को नहीं देखा गया है।

कहां का है मामला: दरअसल पूरा मामला भोपाल के बागसेवनिया का हैं। जहां के विद्यानगर सी-सेक्टर स्थित बीडीए कॉम्प्लेक्स में रविवार रात को करीब 6 महीने पुराना शव मिला है। ये शव कंकाल के रूप में पाया गया है। जानकारी के मुताबिक शव को कंबल- रजाई के सहित कई और कपड़ों में लपेटकर बिस्तर (बेड/दीवान) के अंदर रखा गया था।

पुलिस का क्या है कहना: इस पूरे मामले पर साउथ एसपी संपत उपाध्याय का कहना है कि शव के बारे में कुछ भी पोस्ट मॉर्टम के बाद ही बताया जा सकता है। इसके साथ ही एसपी ने बताया कि फिलहाल फ्लैट के मालिक से बातचीत के बाद ही बताया जा सकता है कि आखिर ये शव यहां कैसे पहुंचा। वहीं शुरुआती जांच में पुलिस इसे मर्डर बता रही है। वहीं बालों की वजह से इसे पुलिस महिला का शव बता रही है हालांकि वो भी अभी कंफर्म नहीं है।

बिस्तर में लपेटने से नहीं फैली बदबू: इस मामले पर फॉरेंसिक अधिकारियों का अनुमान है कि ये शव करीब 6 महीने पुराना है। बिस्तर में लपेटने की वजह से सारा फ्लूड बिस्तर ने सोख लिया। वहीं इस ही वजह से बदबू भी बाहर नहीं फैली। लेकिन जैसे ही बिस्तर का बॉक्स खोला गया वैसे ही एक तेज बदबू फैल गई।

आखिर किसका है ये फ्लैट: पुलिस के मुताबिक ये फ्लैट विमला श्रीवास्तव का है जो ट्रास्पोर्ट विभाग में क्लर्क थीं। वो अपने बेटे अमित श्रीवास्तव के साथ रहती थीं। उन्होंने इस फ्लैट को डीडीए से 2003 में खरीदा था। वहीं पड़ोसियों का कहना है कि उन्होंने अमित को जून 2018 के बाद से नहीं देखा।

कैसे हुआ मामले का खुलासा: दरअसल इस मामले का खुलासा रामवीर सिंह राजपूत ने किया जो भोपाल के ही नेहरू नगर के रहने वाले हैं। उन्होंने ये फ्लैट जुलाई में खरीदा था लेकिन जब फ्लैट खाली करने की बात आई तो उन्होंने कहा कि फ्लैट खाली करने में कुछ वक्त लगेगा। हालांकि कुछ वक्त बाद जब वो आया तो देखा कि फ्लैट बंद है। फ्लैट को कई दफा जब उसने बंद देखा तो उसने आखिरकार फ्लैट खोलने का फैसला किया और फ्लैट की साफ सफाई के लिए मजदूरों के साथ आया। लेकिन साफ सफाई के दौरान जब उसने शव देखा तो उसके होश उड़ गए। इसके बाद रामवीर ने पुलिस से संपर्क किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App