ताज़ा खबर
 

मध्‍य प्रदेश: बगैर हेलमेट बाइक पर निकले BJP सांसद, थाने जाकर भरना पड़ा ₹250 जुर्माना

एक तरफ पुलिस पर नेताओ-मंत्रियों के दवाब में काम करने के आरोप लगते हैं तो वहीं मध्य प्रदेश पुलिस ने अनूठी मिसाल पेश की है। पुलिस ने यातायात नियमों की अनदेखी कर रहे सांसद का ही चालान काट दिया।
भोपाल से बीजेपी सांसद आलोक संजर। (फोटो सोर्स – फेसबुक)

एक तरफ पुलिस पर नेताओ-मंत्रियों के दवाब में काम करने के आरोप लगते हैं तो वहीं मध्य प्रदेश पुलिस ने अनूठी मिसाल पेश की है। पुलिस ने यातायात नियमों की अनदेखी कर रहे सांसद का ही चालान काट दिया। इस पर सांसद ने थाने जाकर वकायदा जुर्माना भरा। टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक भोपाल से बीजेपी सांसद आलोक संजर सोमवार (15 जनवरी) को एकात्म यात्रा में शामिल होने के लिए बाइक पर बिना हेलमेट के निकले थे। वह भोपाल से विधायक सुरेंद्रनाथ संजर के साथ बाइक पर थे। मंगलवार (16 जनवरी) को ट्रैफिक पुलिस ने संजर के खिलाफ यातायात नियमों की अनदेखी की शिकायत दर्ज कर चालान काट दिया। इस बात की पुष्टि एएसपी ट्रैफिक महेंद्र जैन ने की। बुधवार (17 जनवरी) को संजर ने थाने पहुंचकर 250 रुपये का जुर्माना भरा। पुलिस अधिकारी के मुताबिक जुर्माना भरने गए संजर ने कहा कि एक जिम्मेदार शख्स होने के नाते यातायात नियमों का पालन करना उनका कर्तव्य है।

बता दें कि जिस यात्रा में शामिल होने के लिए संजर गए थे, उसके जरिये ओमकारेश्वर में आदि शंकराचार्य की 108 फीट की मूर्ति बनाने के लिए सूबे भर में धातु इकट्ठा की जा रही है। इसमें मंत्री-नेता सभी भाग ले रहे हैं। आदि शंकराचर्य की प्रतिमा के लिए धातु संग्रह के साथ चल रहे जनजागरण अभियान को एकात्म यात्रा का नाम दिया गया है। इस यात्रा की शुरआत मध्य प्रदेश सरकार ने की है। राज्य सरकार ने इसके लिए प्रदेश के गांव-गांव से लोहा समेत दूसरी धातुओं को भी इकट्ठा कर रही है। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने 19 दिसंबर को एकात्म यात्रा को हरी झंडी दी थी। यात्रा की शुरुआत उज्जैन से की गई थी।

इस यात्रा में सांप्रदायिक एकता और सद्भाव की दिलचस्प तस्वीर 4 जनवरी को उस वक्त नजर आई, जब मंडला की मुस्लिम कलेक्टर सूफिया फारुकी ने शंकराचार्य की चरणपादुका सिर पर उठाकर यात्रा का स्वागत किया। लोगों ने इस तस्वीर को खूब पसंद किया था और इसे भारत की गंगा-जमुनी तहजीब बताया था। कलेक्टर ने ऐसा करके एक बड़े वर्ग का दिल जीत लिया था। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एकात्म यात्रा शुरु करते वक्त कहा था कि संतों के नेतृत्व में आदि शंकराचार्य के अद्वैतवाद की जानकारी भारत को दी जाएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App