ताज़ा खबर
 

12वीं में 80 फीसदी अंक के जश्न की बजाए मिली मौत, पिता ने बॉयफ्रेंड के शक में की हत्या

पुलिस ने बताया कि बलजीत ने अपना अपराध स्वीकार कर लिया है। साथ ही बताया कि उसे अपनी बेटी की हत्या का कोई पछतावा नहीं है। बलजीत को सोमवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा।

Author लुधियाना | May 23, 2016 11:59 am
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

पंजाब के लुधियाना की रहने वाली 17 वर्षीय रमनदीप कौर की उसके पिता बलजीत सिंह ने बॉयफ्रेंड होने के शक में हत्या कर दी। रमनदीप की हत्या उसी दिन की गई, जिस दिन उसे 12वीं क्लास की परीक्षा में 80 फीसदी अंक मिले। सिंह का शक था कि उसकी बेटी किसी लड़के के साथ रिलेशनशिप में है। शनिवार रात को बहस के बाद सिंह ने रमनदीप की गला दबाकर हत्या कर दी। घटना के बाद रमनदीप की मां बिंदर कौर उसे अस्पताल लेकर गई, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया।

बिंदर की शिकायत के आधार पर पुलिस ने बलजीत के खिलाफ एफआईआर दर्ज करके अरेस्ट कर लिया। पुलिस ने बताया कि बलजीत ने अपना अपराध स्वीकार कर लिया है। साथ ही बताया कि उसे अपनी बेटी की हत्या का कोई पछतावा नहीं है। बलजीत को सोमवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा।

Read Also: पति के हाथों बेटी की अस्‍मत लुटने का था शक, महिला ने दोनों बेटियों को मार डाला

पुलिस अधिकारी प्रितपाल सिंह ने बताया कि रमनदीप आगे पढ़ना चाहती थी, लेकिन उसके पिता ने तीन महीने पहले भटिंडा के किसी लड़के से उसकी सगाई तय कर दी थी।

पंजाब में इससे पहले भी ऐसे मामले देखने को मिले हैं। 23 अप्रैल को भटिंडा में 19 वर्षीय मनप्रीत कौर का गला दबा कर हत्या कर दी गई थी। मनप्रीत एक पिछड़ी जाति के लड़के के साथ रिलेशनशिप में थी। हत्या मनप्रीत के पिता हरबंस सिंह ने की थी। इसके बाद उसे भी अरेस्ट कर लिया गया था।

वहीं 27 मार्च को भटिंडा के भोला सिंह ने अपनी बेटी बीरपाल कौर और उसके पति बलजीत सिंह पर बरनाला में हमला कर दिया था। बलजीत की मौत हो गई और बीरपाल बच गई। बीरपाल और बलजीत ने अपने परिजनों की मर्जी के खिलाफ जाकर शादी की थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App