ताज़ा खबर
 

लुधियाना में राजीव गांधी की प्रतिमा पर अकाली दल कार्यकर्ताओं ने पोती कालिख, कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने दूध से नहलाकर किया साफ

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने घटना की निंदा की है और दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की बात कही है। उन्होंने ट्वीट कर बताया कि पुलिस को दोषियों को गिरफ्तार करने के आदेश दिए गए हैं। कैप्टन ने अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल से माफी मांगने के लिए कहा है।

लुधियाना में राजीव गांधी की प्रतिमा पर अकाली कार्यकर्ताओं ने कालिख पोती. (फोटो सोर्स: ट्वीटर)

पंजाब के लुधियाना में युवा अकाली दल के कार्यकर्ताओं ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की प्रतिमा पर कालिख पोत दी। मंगलवार को कालिख पोतने के दौरान कार्यकर्ताओं ने राजीव गांधी को दिए गए देश का सर्वश्रेष्ठ सम्मान ‘भारत रत्न’ छीनने की मांग की। हालांकि, उनके इस घटना के घंटे भर बाद ही कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने राजीव की प्रतिमा को दूध से नहलाकर साफ किया।

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने घटना की निंदा की। उन्होंने ट्वीट कर कहा, “मैं लुधियाना में राजीव गांधी की प्रतिमा के साथ की गई बदमाशी की घोर निंदा करता हूं। मैंने पुलिस को कहा है कि वह दोषियों को जल्द पकड़े और कड़ी कार्रवाई करे। इस घृणित काम के लिए एसएडी के अध्यक्ष प्रकाश सिंह बादल को पंजाब के लोगों से माफी मांगनी चाहिए।”

गौरतलब है कि 1984 में हुए सिख विरोधी दंगो के लिए दिल्ली विधानसभा में भी एक प्रस्ताव पारित किया गया था। जिसमें राजीव गांधी से भारत रत्न सम्मान छीनने की बात कही गई थी। हालांकि, विवाद उठता देख प्रस्ताव से राजीव गांधी वाला हिस्सा हटा दिया गया। इस हिस्से को विधानसभा स्पीकर ने हटाया। लेकिन, इस प्रकरण के बाद कई सिख संगठनों (खासकर राजनैतिक) को राजीव के खिलाफ हमला बोलने का मौका मिल गया। दरअसल, पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद हुए सिख विरोधी दंगों के दौरान ही राजीव के हाथों में देश की कमान आई थी। हाल ही में सिख विरोधी दंगों में शामिल होने वाले कांग्रेस के पूर्व नेता सज्जन कुमार को दोषी ठहराया गया और उन्हें आजीवन कारावास की सजा मिली है।

Next Stories
1 छत्तीसगढ़: घाघीटिकरा स्पॉट पर पिकनिक मनाने गए थे पांच दोस्त, तीन नदी में डूबे
2 पंडित मदन मोहन मालवीयः BHU के लिए कर दिया था नवाब की जूती बेचने का ऐलान, यूं हार गए थे हैदराबाद के निजाम
3 Gujarat: फर्जी डिप्टी कलेक्टर बनकर की करीब 40 लाख की ठगी, लालबत्ती गाड़ी में करती थी सफर
ये पढ़ा क्या?
X