ताज़ा खबर
 

लव जिहाद: शंभूलाल रैगर के समर्थन में संभावित रैली से पहले राजस्थान पुलिस ने हिंदू कार्यकर्ता को लिया हिरासत में

उपदेश राणा ने मंगलवार को पोस्ट किए एक ऑनलाइन वीडियो में गुरुवार को उदयपुर में एक बड़ी रैली का आह्वान किया था। उन्होंने रैली में हिंदुओं से बड़ी संख्या में भाग लेने की बात कही थी।

Author उदयपुर | December 14, 2017 8:11 PM
आरोपी शंभू लाल रेगर, (इंसेट) मुस्लिम मजदूर अफराजुल।

‘लव जिहाद’ हत्या मामले में आरोपी शंभूलाल रैगर के समर्थन में सुनियोजित रैली के घंटों पहले राजस्थान पुलिस ने गुरुवार को एक दक्षिणपंथी कार्यकर्ता को हिरासत में ले लिया। उदयपुर में धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू है। बगरू के थाना प्रभारी (एसएचओ) राजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा कि पुलिस ने गुरुवार दोपहर बगरू में ठाकुर उपदेश राणा को हिरासत में लिया। बगरू अजमेर रोड में जयपुर सीमा पर स्थित है। राणा ने मंगलवार को पोस्ट किए एक ऑनलाइन वीडियो में गुरुवार को उदयपुर में एक बड़ी रैली का आह्वान किया था। उन्होंने रैली में हिंदुओं से बड़ी संख्या में भाग लेने की बात कही थी। राणा ने बुधवार को एक और वीडियो पोस्ट किया जिसमें उन्होंने कहा कि वह रैगर के परिवार से मिलेंगे और उन्होंने प्रशासन को उन्हें गिरफ्तार करने की चुनौती दी।

इससे पहले, उदयपुर जिला मजिस्ट्रेट बिष्णु चरण मलिक ने बुधवार रात से शहर में धारा 144 लागू कर दी थी। ताकि शहर में किसी भी अप्रिय घटना और सांप्रदायिक तनाव को टाला जा सके। सोशल मीडिया साइटों पर घृणा संदेशों के बढ़ते प्रसार के मद्देनजर मंडल आयुक्त भवानी सिंह देथा ने उदयपुर के साथ-साथ राजसमंद में अगले 24 घंटों के लिए इंटरनेट सेवाओं पर रोक का आदेश जारी किया। इस अवधि के दौरान स्कूल और कॉलेज भी बंद रहेंगे। राजसमंद में इस महीने की शुरुआत में एक मुस्लिम व्यक्ति की ‘लव जिहाद’ के नाम पर बेहरमी से हत्या कर लगा दी गई थी। पुलिस सूत्रों ने इंटरनेट सेवा, बड़ी संख्या में संदेश/एमएमएस/वॉट्स एप/फेसबुक, ट्विटर और दूसरी सोशल मीडिया साइटों पर 24 घंटे के लिए रोक लगा दी। पुलिस ने लोगों से सतर्क रहने को कहा।

सूत्रों के मुताबिक, कुछ स्वघोषित हिंदू संगठनों ने रैगर के समर्थन में गुरुवार को एक जुलूस निकालने की घोषणा की थी। कई लोगों ने रैगर की पत्नी के खाते में पैसे जमा कराए हैं। प्रशासन ने खाते पर रोक लगा दी है और जांच में जुटा है कि उसकी पत्नी के खाते में पैसे किसने जमा कराए। मलिक ने कहा कि धारा 144 के तहत भड़काऊ भाषण, रैली और जुलूसों पर सख्त प्रतिबंध है। इसका उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि धारदार हथियार और छड़ों के साथ घूमने वालों के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इस बीच, आईजी आनंद श्रीवास्तव ने फेसबुक को एक पत्र लिखा है जिसमें नफरत वाले संदेश भेजने वाले लोगों के खातों को ब्लॉक करने का अनुरोध किया गया है।

राणा ने फेसबुक पर नफरत भरा संदेश दिया था जिसके बाद आईजी ने फेसबुक से उनके खाते को ब्लॉक करने का अनुरोध किया। नौ दिसम्बर को बड़ी संख्या में मुसलमानों ने उदयपुर में रैली कर रैगर को कड़ी सजा देने की मांग की थी। सोशल मीडिया में एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें मुसलमान उदयपुर के चेतक गोलचक्कर पर खड़े होकर हिंदुओं के खिलाफ नारे लगा रहे हैं। वे वीडियो में रैगर के लिए फांसी की सजा मांगते हुए दिख रहे हैं। पुलिस सूत्रों ने कहा कि वीडियो को फॉरेंसिक जांच के लिए भेज दिया गया है। वीडियो के खिलाफ विरोध में उतरे स्व घोषित हिंदू संगठनों ने शंभूलाल रैगर और उसके परिवार के समर्थन का ऐलान किया था। संगठन के एक सदस्य ने राजसमंद में गुरुवार को रैली की घोषणा की थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App