ताज़ा खबर
 

स्कूटर से मार्च में गईं लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन, चलाने वाला भी था बिना हेलमेट

लोकसभा स्पीकर बीते रविवार को एक मार्च में शामिल होने के लिए स्कूटर पर सवार होकर कार्यक्रम स्थल पर पहूंची। इस दौरान उनके साथ ना ही कोई सुरक्षा अधिकारी और ना ही गाड़ियों का काफिला था।

लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन। (file pic)

हमारे देश में अक्सर देखा जाता है कि सत्तासीन व्यक्ति जब भी कहीं जाते हैं तो उनके साथ लंबा-चौड़ा काफिला चलता है। लेकिन लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन के मामले में ऐसा नहीं है। वह अपने नम्र स्वभाव के लिए जानी जाती हैं। बीते रविवार को एक बार फिर उन्होंने अपने इस नम्र स्वभाव की झलक दिखाई। दरअसल लोकसभा स्पीकर बीते रविवार को एक मार्च में शामिल होने के लिए स्कूटर पर सवार होकर कार्यक्रम स्थल पर पहूंची। इस दौरान उनके साथ ना ही कोई सुरक्षा अधिकारी और ना ही गाड़ियों का काफिला था। स्कूटर इंदौर डेवलेपमेंट अथॉरिटी के चेयरमैन और भाजपा नेता शंकर लालवानी चला रहे थे और सुमित्रा महाजन उनके साथ पिछली सीट पर बैठी नजर आयीं।

हालांकि इस दौरान ना तो शंकर लालवानी और ना ही सुमित्रा महाजन ने हेलमेट नहीं पहना हुआ था। बता दें कि यह मार्च इंदौर में देवी अहिल्याबाई होल्कर की 223वीं पुण्यतिथि के अवसर पर निकाला जा रहा था। बता दें कि सुमित्रा महाजन जितना अपने नम्र स्वभाव के लिए जानी जाती हैं, उतना ही वह एक कद्दावर राजनेता के तौर पर भी पहचान रखती हैं। सुमित्रा महाजन इंदौर से लगातार 8 बार सांसद रह चुकी हैं। इसके साथ ही वह कई मंत्रालयों में बतौर केन्द्रीय मंत्री भी अपनी से सेवाएं दे चुकी हैं। सुमित्रा महाजन कई संसदीय समितियों में भी अहम जिम्मेदारियां निभा चुकी हैं।

बीते दिनों एससी-एसटी एक्ट और कुछ राजनैतिक पार्टियों द्वारा बुलाए गए भारत बंद पर उन्होंने अपने विचार रखे। भाजपा के एक कार्यक्रम में एससी-एसटी एक्ट पर बोलते हुए सुमित्रा महाजन ने कहा कि यदि किसी को कोई चीज देकर तुरंत ही उसे छीन लिया जाए, तो उसका परिणाम भयंकर ही होगा। संसद इस मुद्दे पर काम कर रही है, लेकिन सभी सांसदों को भी इस मुद्दे पर सोचना चाहिए। यह पूरे समाज की जिम्मेदारी है कि ऐसा माहौल बनाया जाए, जहां बातचीत हो सके।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App