ताज़ा खबर
 

Lok Sabha Elections 2019: रोस्टर बनाकर मतदाताओं के बीच पहुंच रहे उम्मीदवार

भाजपा यूथ फॉर मोदी अभियान के जरिए कॉलेजों, शैक्षणिक संस्थानों, कोचिंग सेंटरों आदि में युवा पदाधिकारियों के माध्यम से केंद्र की कौशल विकास योजना, स्टार्टअप और स्किल इंडिया जैसी योजनाओं के लाभों की चर्चा कर रही है।

वोटर लिस्ट फोटो सोर्सः इंडियन एक्सप्रेस

मतदान में अब कुछ ही दिन बचे हैं, ऐसे में प्रत्याशी अपने स्तर से मतदाताओं को रिझाने के लिए सुबह की सैर से लेकर पूजा, भंडारे, जागरण और अन्य समारोह में मौजूदगी दर्ज करा रहे हैं। चिलचिलाती गर्मी में घनी आबादी और लोकसभा क्षेत्र के सभी इलाकों में पहुंच बनाना संभव नहीं है। ऐसे में रोस्टर बनाकर प्रचार किया जा रहा है। खासतौर पर पहली बार मतदान करने वाले युवा आसानी से उपलब्ध होने के चलते उन्हें मनाने में राजनीतिक दल जुट गए हैं।
कॉलेजों से लेकर पीजी आदि में चर्चाओं के लिए भाजपा ने यूथ फॉर मोदी अभियान चलाया है तो वहीं शिक्षा के क्षेत्र में क्रांतिकारी बदलाव लाने का दावा कर आम आदमी पार्टी की युवा इकाई इस काम को बखूबी अंजाम दे रही है। इस मामले में कांग्रेस भी पीछे नहीं है। पार्टी ने प्रदेश इकाई के तेजतर्रार युवाओं को शामिल कर कॉलेजों की कैंटीन, बस स्टैंड और मेट्रो स्टेशनों पर छात्रों से संपर्क साधा जा रहा है।

गर्मी के कहर को देखते हुए प्रत्याशियों ने अपने प्रचार अभियान को भी चरणों में बांट दिया है। सुबह सवेरे से शुरू होने वाले पदयात्रा या रोड शो के प्रचार को दोपहर से पहले पूरा कर रहे हैं। उसके बाद आरडब्लूए, संगठनों या बाजार एसोसिएशनों के बीच जाकर मुद्दों पर चर्चाएं हो रही हैं। दूसरा चरण शाम तीन या चार बजे और तीसरा चरण देर रात तक सभा या प्रचार के लिए अपनाया जा रहा है।

प्रचार को हिस्सों में बांटने से प्रत्याशी कामकाजी, युवाओं, पेशेवरों समेत दुकानदारों तक संपर्क साधने में कामयाब हो रहे हैं। पूर्वी दिल्ली के महाराजा अग्रसेन कॉलेज, शहीद राजगुरु कॉलेज आॅफ एप्लाइड साइंस, विवेकानंद कॉलेज, शहीद सुखदेव कॉलेज आदि में पढ़ने वाले युवा मतदाताओं के बीच दिल्ली के तीनों राजनीतिक दल पैठ बनाने में लगे हैं। सभी युवाओं के जोश के सहारे चुनावी जंग में अपनी स्थिति मजबूत करना चाहते हैं। चुनाव आयोग भी ट्वीटर व अन्य माध्यमों से युवाओं को मतदाता सूची में नाम जोड़ने के लिए कह रहा है।

युवाओं को जोड़ने का तरीका
भाजपा यूथ फॉर मोदी अभियान के जरिए कॉलेजों, शैक्षणिक संस्थानों, कोचिंग सेंटरों आदि में युवा पदाधिकारियों के माध्यम से केंद्र की कौशल विकास योजना, स्टार्टअप और स्किल इंडिया जैसी योजनाओं के लाभों की चर्चा कर रही है। यूथ कांग्रेस के पदाधिकारी भी घर-घर अभियान और युवा संवाद के जरिए युवाओं से संपर्क साधा रही है। डोर टू डोर, चलो वार्ड, चलो पंचायत अभियान के तहत पार्टी की 60 साल की उपलब्धियों को गिनाया जा रहा है। रोजगार और शिक्षा के मामलों की हकीकत से भी युवाओं को रू-ब-रू कराया जा रहा है। आम आदमी पार्टी ने बूथ स्तर तक युवाओं की टीमें तैयार की है। जो युवाओं को दिल्ली के पूर्ण राज्य होने पर शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार के फायदों के बारे में बता रही हैं। पार्टी कार्यालय में बनाए गए केंद्रीय कक्ष में भी युवाओं को विशेष तवज्जो दी गई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 बीजेपी सर्वे में ‘आप’ सरकार का कामकाज, ‘कहानी विश्वासघात की’ को रखा जाएगा जनता के सामने
2 गंभीर के ‘राजनीतिक गुरु’ होंगे जाजू
3 मजदूर दिवस पर विशेष: लेबर चौक पर नहीं दिखता उम्मीदों का कोई चौराहा
ये पढ़ा क्या?
X