scorecardresearch

‘शरिया के मुताबिक अवैध है मोदी सरकार की सुकन्या समृद्धि योजना’

जमीयत उलेमा-ए-हिन्द के मीडिया प्रभारी अजीमुल्लाह सिद्दीकी ने कहा, ‘सुकन्या समृद्धि ब्याज पर आधारित है, इसलिए यह इस्लामिक शरिया के अनुसार अवैध है।’

pm modi
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोेदी फोटो सोर्सः इंडियन एक्सप्रेस

Lok Sabha Election 2019 से पहले इस्लामिक मुफ्तियों ने मोदी सरकार की सुकन्या समृद्धि योजना का विरोध किया है। उन्होंने इसे शरिया के खिलाफ बताते हुए इसे अवैध करार दिया। जमीयत उलेमा-ए-हिन्द के मीडिया प्रभारी अजीमुल्लाह सिद्दीकी ने बताया कि इस हफ्ते की शुरुआत में संगठन की तरफ से आयोजित तीन दिवसीय सम्मेलन में बच्चियों के लिए चलाई जा रही छोटी बचत योजना पर यह प्रस्ताव पारित किया गया।

मोदी सरकार ने 2015 में शुरू की थी योजनाः सिद्दीकी ने कहा, ‘सुकन्या समृद्धि ब्याज पर आधारित है, इसलिए यह इस्लामिक शरिया के अनुसार अवैध है।’ नरेंद्र मोदी सरकार ने 2015 में ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ अभियान के तहत यह योजना आरंभ की थी।

मोबाइल ऐप से लेनदेन वैध’: एक अन्य प्रस्ताव में विभिन्न मोबाइल ऐप के जरिए आर्थिक लेनदेन को अनुमति भी प्रदान की गई। शरिया के मुताबिक कैशबैक या रिवॉर्ड प्वॉइंट और ऐप से कैब बुकिंग करने को वैध करार दिया गया। इसी प्रस्ताव में कहा गया कि वैध वस्तुओं के विज्ञापन के लिए गूगल एडसेंस का उपयोग किया जाना उचित है।

[bc_video video_id=”5803013157001″ account_id=”5798671092001″ player_id=”JZkm7IO4g3″ embed=”in-page” padding_top=”56%” autoplay=”” min_width=”0px” max_width=”640px” width=”100%” height=”100%”]

 

क्या है यह योजनाः सुकन्या समृद्धि योजना केंद्र सरकार की एक छोटी बचत योजना है जिसे बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ स्कीम के तहत लॉन्च किया गया है। दरअसल यह योजना उन परिवारों को ध्यान में रखकर शुरू की गई जिनमें छोटी-छोटी बचत के जरिए बच्चे की शादी या उच्च शिक्षा के लिए रकम जमा करवाना चाहते हैं। जो लोग शेयर बाजार के जोखिम से दूर रहना चाहते हों उनके लिए यह योजना अच्छा विकल्प है।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट