ताज़ा खबर
 

बिहार में गठबंधन पर फंसा पेंचः कांग्रेस ने मांगी 12 सीटें, RJD सिर्फ आठ देने को तैयार

कांग्रेस अध्यक्ष 3 फरवरी को पटना के गांधी मैदान से चुनावी रैली कर बिहार में आगाज करेंगे। माना जा रहा है कि इसी दौरान उनसे चर्चा के बाद महागठबंधन की सीटों का ऐलान किया जा सकता है।

राहुल गांधी और तेजस्वी यादव (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

लोकसभा चुनाव में भाजपा के मुकाबले के लिए बनाए जा रहे महागठबंधन फॉर्मूले को बिहार में भी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। उत्तर प्रदेश में असफलता के बाद अब बिहार में भी सीटों पर पेंच फंस रहा है। दरअसल राज्य में लोकसभा की 40 सीटे हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक कांग्रेस ने यहां 12 सीटों की मांग रखी है, वहीं राष्ट्रीय जनता दल उसे सिर्फ आठ सीटें देने को तैयार है। ऐसे में मकर संक्रांति तक होने वाला ऐलान अब तक नहीं हो पाया। दूसरी तरफ एनडीए में काफी पहले ही सीटों का बंटवारा हो चुका है।

क्यों फंस रहा सीटों का पेंचः दरअसल बिहार की 40 में कम से कम 20 सीटें आरजेडी अपने पास रखना चाहती है। एनडीए छोड़ महागठबंधन में शामिल हुए राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा पांच, राष्ट्रीय जनतांत्रिक दल के शरद यादव तीन और हिंदुस्तान अवाम मोर्चा के जीतनराम मांझी तीन सीटें मांग रहे हैं। इनके अलावा इस गठबंधन में मुकेश साहनी की वीआईपी और वामपंथी दल भी शामिल हैं। तेजस्वी और मायावती की मुलाकात के बाद माना जा रहा है कि बिहार में बसपा को भी एक सीट दी जा सकती है। सीटें सिर्फ 40 हैं और दल कई सारे हैं इसी के चलते यह पेंच फंसा हुआ है।

राहुल के दौरे के बाद हो सकता है ऐलानः कांग्रेस अध्यक्ष 3 फरवरी को पटना के गांधी मैदान से चुनावी रैली कर बिहार में आगाज करेंगे। माना जा रहा है कि इसी दौरान उनसे चर्चा के बाद महागठबंधन की सीटों का ऐलान किया जा सकता है। उल्लेखनीय है कि पिछले चुनाव में कांग्रेस ने 12 में से दो और आरजेडी 27 में से महज चार सीटें ही जीत पाई थीं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App