ताज़ा खबर
 

‘आप’ सरकार के कार्यक्रम में मेहमान बनेंगे आडवाणी

इस कार्यक्रम का आयोजन विधानसभा की तरफ से किया जा रहा है और यह न्योता विधानसभा अध्यक्ष रामनिवास गोयल की तरफ से भेजा गया है। दिल्ली विधानसभा से जुड़ी कई जानी-मानी हस्तियों जैसे- सुषमा स्वराज, जगदीश मुखी व पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित को भी कार्यक्रम का न्योता भेजा गया है।

बीजेपी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी। (फाइल फोटो)

दिल्ली की आम आदमी पार्टी (आप) सरकार ने 15 दिसंबर को विधानसभा के 25 साल पूरे होने पर एक कार्यक्रम आयोजित किया है, जिसमें पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी को आमंत्रित किया गया है। इस कार्यक्रम का आयोजन विधानसभा की तरफ से किया जा रहा है और यह न्योता विधानसभा अध्यक्ष रामनिवास गोयल की तरफ से भेजा गया है। दिल्ली विधानसभा से जुड़ी कई जानी-मानी हस्तियों जैसे- सुषमा स्वराज, जगदीश मुखी व पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित को भी कार्यक्रम का न्योता भेजा गया है। विधानसभा अध्यक्ष रामनिवास गोयल ने बताया कि दिल्ली विधानसभा अपनी सिल्वर जुबली मना रही है। हम चाहते हैं कि विधानसभा से जुड़े हर सदस्य को इस कार्यक्रम में शामिल किया जाए। इसलिए विधानसभा के पूर्व मंत्रियों समेत अन्य सदस्यों को न्योता भेजा गया है और सभी लोगों से अनुरोध किया गया है कि वे इस कार्यक्रम में शामिल हों। गोयल ने कहा कि लालकृष्ण आडवाणी पहली मेट्रोपॉलिटन काउंसिल (1967-72) के अध्यक्ष रहे हैं। उनके कार्यकाल में कामकाज की जानकारी व उनका अनुभव मिलने से विधायकों को सीखने का मौका मिला। इस कार्यकाल में ही विजय कुमार मल्होत्रा भी उनके साथी थे।

विधानसभा में विपक्ष के नेता विजेंद्र गुप्ता ने बताया कि विधानसभा के 25 साल पूरे होने पर यह कार्यक्रम आयोजित किया गया है। आडवाणी जी का स्वागत है और उनसे हमें बहुत कुछ जानने को मिलेगा। वहीं दिल्ली सरकार के मंत्री गोपाल राय ने कहा कि इससे पहले भी दिल्ली सरकार के कार्यक्रम में वरिष्ठ नेताओं को विधानसभा में बुलाया जाता रहा है। लालकृष्ण आडवाणी इस सदन के सदस्य रहे हैं, इसलिए उन्हें विधानसभा ने बुलाया है। इसका सीधा लाभ नए विधायकों को मिलेगा। इससे पहले भी वरिष्ठ नेता यशवंत सिंह व वेंकैया नायडू समेत अन्य नेताओं को आप सरकार ने विभिन्न कार्यक्रमों में आमंत्रित किया है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 राफेल, किसानों की दुर्दशा तथा अर्थव्यवस्था में से विपक्ष तय करे प्राथमिकताएं : मोदी
2 उत्तरप्रदेश: छापा मारने पहुंचे मंत्री को कर्मचारियों ने बनाया बंधक, पुलिस ने कराया मुक्त
3 सबरीमला विवाद पर भड़का भाजपा का सचिवालय मार्च, पुलिस ने छोड़े आंसू गैस के गोले