ताज़ा खबर
 

Bihar Elections 2020: चिराग पासवान का हमला- CM की ‘7 निश्चय’ योजना भ्रष्टाचार का पिटारा, JDU और RJD दे रहे झांसा

चिराग ने सीएम नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए कहा कि जो लोग यह कहते हैं कि समुद्र नहीं होने की वजह से बड़े उद्योग नहीं लगे, ऐसा कहने वालों के राज में कोई रोजगार नहीं मिलने वाला है।

Nitish Kumar, Chirag Paswanचिराग पासवान लगातार सीएम नीतीश कुमार पर हमला कर रहे हैं।

लोजपा नेता चिराग पासवान का मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर सीधा हमला जारी है। शुक्रवार (30 अक्तूबर) को भागलपुर और जगदीशपुर की चुनावी सभा में उन्होंने दोहराया कि सात निश्चय योजना भ्रष्टाचार का पिटारा है। लोजपा की सरकार आई तो इस योजना की जांच कराई जाएगी। दोषी अधिकारियों और नीतीश कुमार समेत जेल भेजे जाएंगे ।

भागलपुर के सैंडिस कंपाउंड में लोजपा उम्मीदवार राजेश वर्मा और जगदीशपुर में नाथनगर के लोजपा उम्मीदवार अमर कुशवाहा के पक्ष में जनसभा को संबोधित करने पहुंचे चिराग का भीड़ ने जोर-शोर से स्वागत किया। इस दौरान लोजपा प्रदेश उपाध्यक्ष संगीत तिवारी भी मंच पर मौजूद रहीं। यहां भाजपा के रोहित पांडे भी उम्मीदवार है। जाहिर है कि यहां चुनावी संघर्ष में चिराग का भाजपा-लोजपा के भाईचारे का रिश्ता बना नहीं रह पाया। हालांकि, चिराग की लोकप्रियता का आलम यह था कि ढाई घंटे देर से आने के बावजूद भीड़ उन्हें सुनने मैदान में डटी रही। उनके आने की घोषणा सुबह दस बजे की थी। मगर वे साढ़े बारह बजे आए। इस दौरान भीड़ में महिलाओं की तादाद काफी थी।

लोजपा नेता चिराग पासवान ने मंच से साफ कहा कि 10 नवंबर के बाद नीतीश कुमार की मुख्यमंत्री पद से विदाई तय है। बिहार की जनता ने पिछले 30 साल के शासन में जंगलराज और कुशासन राज देख लिया है। अब दोनों जदयू और राजद विकास की बात कर झांसा दे रहे है। मगर जनता इन्हें समझ चुकी है।

‘सीएम के लोग ही शराब तस्करी में शामिल’: चिराग ने कहा कि प्रदेश में स्वास्थ्य-शिक्षा सब चौपट है। उच्च शिक्षा का आलम यह है कि तीन साल की पढ़ाई का सत्र पांच साल में पूरा हो पाता है। अस्पताल खुद बीमार है। उन्होंने आरोप लगाया कि शराब तस्करी में सीएम की पार्टी के लोग ही लगे है। और इन्हीं के मार्फ़त उन तक पैसा पहुंच रहा है। होम डिलीवरी के साथ शराब की खपत पहले से ज्यादा हो रही है।

‘नीतीश कुमार के राज में युवाओं को नहीं मिलेगा रोजगार’: उन्होंने कहा कि भागलपुर का सिल्क उद्योग बर्बाद हो रहा है। मुख्यमंत्री का इस ओर कोई ध्यान नहीं है। बल्कि बिहार में कोई कल-कारखाने नहीं लगे। मुख्यमंत्री की दलील हास्यास्पद है। समुद्र नहीं होने की वजह से बड़े उद्योग नहीं लगे, ऐसा कहने वाले मुख्यमंत्री के राज में युवकों को कोई रोजगार नहीं मिलने वाला है। इसलिए बिहार फर्स्ट-बिहारी फर्स्ट का नारा बुलंद कर लोजपा उम्मीदवार को विजयी बनाने की उन्होंने अपील की। तभी बिहार के गरीबों के हर हाथ को काम मिलेगा। जो इस सीएम के राज में संभव नहीं है। बगैर गरीबों के उत्थान के बिहार के विकास की कल्पना नहीं की जा सकती है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 J&K का आतंक को जवाब! TRF की चेतावनी के बाद भी मारे गए BJP कार्यकर्ताओं के जनाजे में उमड़ा हुजूम, BJP बोली- चुन-चुनकर सफाया करेंगे
2 यूपीः 11वीं के छात्र ने पिता को उतार दिया मौत के घाट, वारदात से पहले 100 बार देखे थे क्राइम शो
3 MP By Elections: दुनिया भर के वॉशिंग पाउडर आजमा लें कमलनाथ, फिर भी नहीं धो पाएंगे दाग- बोले CM शिवराज चौहान
यह पढ़ा क्या?
X