ताज़ा खबर
 

बिहार में लागू है कानून का राज, जंगलराज के आरोपों पर बोले राज्यपाल कोविंद

बिहार के राज्यपाल राम नाथ कोविंद ने राज्य में कानून का राज होने का दावा करते हुए कहा कि राज्य की प्रगति के लिए शांति व्यवस्था और सद्भाव का माहौल जरूरी है।

Author पटना | January 26, 2016 11:33 PM
पटना के गांधी मैदान में राज्यपाल रामनाथ कोविंद और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (दाएं)। (फाइल फोटो)

बिहार के राज्यपाल राम नाथ कोविंद ने राज्य में कानून का राज होने का दावा करते हुए कहा है कि अपराध पर नियंत्रण पाने के लिए ठोस व्यवस्था लागू है। पिछले दिनों में दरभंगा जिले में सड़क निर्माण में लगे दो इंजीनियरों की हत्या सहित अन्य आपराधिक घटनाओं को लेकर विपक्षी दलों के प्रदेश में ‘जंगलराज 2’ के आरोपों के बीच राज्यपाल ने यह बात कही। 67वें गणतंत्र के मौके पर मंगलवार को पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान में राष्ट्रध्वज फहराने के बाद अपने संबोधन में राज्यपाल कोविंद ने राज्य में कानून का राज होने का दावा करते हुए कहा कि राज्य की प्रगति के लिए शांति व्यवस्था और सद्भाव का माहौल जरूरी है। उन्होंने कहा कि राज्य में सांप्रदायिक सद्भाव और सामाजिक सौहार्द का वातावरण बना है।

राज्यपाल ने कहा कि राज्य में कानून का राज स्थापित है। बिना किसी द्वेष या भेदभाव के कानूनी प्रावधानों व वैधिक प्रक्रियाओं का पालन करते हुए अपराध पर नियंत्रण और अपराधियों को नाकाम करने के लिए ठोस व्यवस्था लागू है। संगठित अपराध पर कड़ाई से अंकुश लगाया गया है और यही व्यवस्था आगे भी जारी रहेगी।

कोविंद ने कहा कि भ्रष्टाचार देश और राज्य की प्रगति की सबसे बड़ी बाधा है। इसे पूरी तरह से खत्म करने के लिए बिहार में भ्रष्टाचार के विरुद्ध हमारी सरकार ने ‘जीरो टॉलरेंस’ की नीति अपनाई है। उन्होंने कहा कि राज्य की जनता को नियत समय सीमा के भीतर लोक शिकायत निवारण का अधिकार देने के उद्देश्य से बिहार लोक शिकायत निवारण अधिकार अधिनियम 2015 को पारित किया गया है। अब नागरिकों को उनकी शिकायतों के निवारण का अवसर एक नियत समय सीमा के अंदर मिल सकेगा और साथ ही कार्रवाई की सूचना भी उन्हें मिलेगी।

राज्यपाल ने कहा कि बिहार लोक शिकायत निवारण अधिकार अधिनियम 2015 के तहत जो पदाधिकारी बिना किसी पर्याप्त कारण के नियत समय सीमा के भीतर शिकायतों का निवारण करने में विफल रहेंगे उन पर जुर्माना लगाया जाएगा और अनुशासनिक कार्रवाई भी की जा सकेगी। उन्होंने कहा कि निगरानी विभाग, विशेष निगरानी इकाई और आर्थिक अपराध इकाई द्वारा भ्रष्ट लोक सेवकों के विरुद्ध प्रभावकारी मुहिम जारी है। विभिन्न कानूनी प्रावधानों के तहत अवैध कारोबार से पैसे कमाने वालों की अवैध संपत्तियों को भी जब्त किया जा रहा है।

कोविंद ने कहा कि राज्य सरकार ने सुशासन और न्याय के साथ विकास के लिए सार्थक प्रयास किए हैं जिससे राज्य के सभी क्षेत्रों में उल्लेखनीय प्रगति हुई है। सरकार का मूल संकल्प राज्य का सर्वांगीण विकास है और विकास की इस यात्रा के क्रम में जो संकल्प राज्य सरकार ने पहले लिए थे उन्हें पूरा किया गया है।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने प्रशासनिक और वित्तीय संरचना को स्थापित करते हुए विकास व प्रगति का मार्ग प्रशस्त किया है। कोविंद ने कहा कि नीति आयोग के प्रकाशित आंकड़ों में साल 2014-15 के लिए बिहार को 17.06 फीसद की विकास दर के साथ देश का सबसे तेजी से प्रगति करने वाला राज्य बताया गया है। वर्ष 2015-16 का बजट आकार एक लाख 20 हजार करोड़ रुपए से अधिक है। राज्य के कर संग्रहण में भी उल्लेखनीय बढ़ोतरी हुई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App