ताज़ा खबर
 

गुजरात में बिना दुल्हन के ही हो गई शानदार शादी, लड़के की पुरानी ख्वाहिश पिता ने की पूरी

गुजरात के हिम्मतनगर में रहने वाले अजय बारोट की शादी बहुत धूमधाम से की गई। हालांकि इस शादी की सबसे अनोखी बात यह थी कि इसमें कोई दुल्हन नहीं थी।

गुजरात में बिना दुल्हन के ही हो गई शानदार शादी फोटो सोर्स-ANI

गुजरात के हिम्मतनगर में शादी का एक अनोखा मामला सामने आया है। इस शादी की खास बात यह थी इसमें दूल्हा तो था लेकिन कोई दुल्हन नहीं थी। जिसका कारण है लर्निंग डिसेबिलिटी से जूझ रहा अजय। दरअसल 27 वर्षीय अजय बारोट को जन्म से ही लर्निंग डिसेबिलिटी की बीमारी है। उन्होंने बचपन में ही अपनी मां को खो दिया। अजय के पिता विष्णु बारोट बताते हैं कि जब अजय उनसे शादी के बारे में पूछता था तो वे उसकी बातों का कोई जवाब नहीं दे पाते थे, क्योंकि बीमारी के चलते उनके बेटे के लिए कोई भी दुल्हन नहीं मिल रही थी।

खुशी है कि बेटे का सपना पूरा कर पायाः न्यूज एजेंसी एएनआई से बातचीत के दौरान अजय के पिता विष्णु बारोट ने बताया- ‘मेरा बेटा जब अन्य लोगों की बारात देखता था तो हमसे उसकी शादी के बारे में पूछता था। हम उसका जवाब नहीं दे पाते थे। मैंने अपने परिवार वालों के संग इस बारे में बातचीत की और शादी का आयोजन करने का फैसला किया ताकि मेरे बेटे का सपना पूरा हो सके। मुझे बहुत खुशी है कि मैं अपने बेटे के सपने को बिना सोचे समझे पूरा किया कि समाज क्या कहेगा?’
National Hindi News, 13 May 2019 LIVE Updates: दिनभर की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

किया भव्य आयोजनः बारोट परिवार ने सभी रीति-रिवाजों और परंपराओं के साथ शादी का आयोजन किया। यही नहीं शादी से एक दिन पहले अजय की मेंहदी और संगीत भी हुआ ,जिसमें उसके करीबी दोस्तों और रिश्तेदारों ने हिस्सा लिया। इसके बाद शादी वाले दिन अजय को पांरपरिक कपड़े पहनाए गए जिसमें उनकी सुनहरी शेरवानी, गुलाबी रंग का सेहरा और एक सफेद गुलाबी रंग की माला शामिल थी। इसके बाद दूल्हे को घोड़ी पर भी बैठाया गया और बारात निकाली गई। बारात में लगभग 200 बाराती शामिल थे। सभी गुजराती गानों और ढोल की धुन पर नाच रहे थे। शादी का आयोजन कम्यूनिटी हॉल में किया गया था जहां पर 800 लोगों को दावत दी गई थी।

 

म्यूजिक का शौकीनः अजय के चाचा कमलेश बारोट ने कहा कि उनका भतीजा म्यूजिक का बहुत शौकीन है और डांस से उनके चेहरे पर एक मुस्कान आ जाती है। वह हमारे गांव की किसी भी शादी को मिस नहीं करता। उन्होंने कहा-‘ फरवरी में मेरे बेटे की शादी को देखने के बाद अजय हमसे उसकी शादी के बारे में पूछते थे। जब मेरा भाई अपने बेटे की इच्छा को पूरा करने के लिए एक विचार मेरे पास लेकर आया तो हम सभी ने उसके साथ खड़े होने का फैसला किया।’ उन्होंने कहा कि अजय की वरघोडो (शादी की बारात) किसी भी सामान्य शादी की तरह नहीं थी। बस शादी से दुल्हन गायब थी। उन्होंने कहा, ‘हमने अपने रिश्तेदारों को शादी का निमंत्रण भेजा और एक पुजारी की मौजूदगी में गुजराती परंपरा के अनुसार सभी रस्में निभाईं। हमारे लिए यह जरूरी था कि हम अजय को अपने इस दिन पर खुशी से झूमते हुए देखें।’

Next Stories
1 कांग्रेस सरकार ने कोर्स में किया बदलाव- वीर नहीं, अंग्रेजों से दया मांगने वाले थे सावरकर
2 Mumbai: बेटी को कमरे में बंद कर शादी में गए थे पैरेंट्स, आग लगने से 16 साल की मासूम की मौत
3 Rajasthan: ससुराल वालों ने पीटा और फाड़ दिए कपड़े, नग्न अवस्था में थाने पहुंची महिला, रास्ते में फोटो खींचते रहे लोग
यह पढ़ा क्या?
X