ताज़ा खबर
 

Republic Day: अशोक चक्र पाने वाले लांस नायक मोहन नाथ ने अंतिम 11 दिनों में ढेर कर दिए थे 10 आतंकी

कर्नल एसडी गोस्वामी के मुताबिक, गोस्‍वामी ने अपनी जिंदगी के अंतिम 11 दिनों में कश्मीर घाटी में तीन आतंकवाद निरोधी अभियानों में सक्रिय भाग लिया था, जिसमें 10 आतंकवादी मारे गए थे और एक जिंदा पकड़ा गया था।

Author नई दिल्‍ली | January 26, 2016 11:44 AM
राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने मंगलवार को लांस नायक मोहन नाथ गोस्वामी की पत्‍नी को अशोक चक्र सम्‍मान सौंपा गया।

सेना के विशेष बल के कमांडो शहीद लांस नायक मोहन नाथ गोस्वामी को उनकी वीरता के लिए अशोक चक्र से सम्‍मानित‍ किया गया है। वह आज हमारे बीच नहीं हैं, लेकिन उन्‍होंने जिस अदम्‍य साहस का परिचय दिया, वह कभी न भुलाने वाला है। वह पिछले साल सितंबर में शहीद हुए थे। लांस नायक गोस्‍वामी ने प्राण त्‍यागने से पहले चार आतंकियों को ढेर किया। इनमें दो को उन्‍होंने खुद मारा, जबकि गोली लगने के बाद भी दो अन्‍य मारने में साथियों की मदद की। खुद घायल होने के बाद भी वह अपने दो घायल साथियों को सुरक्षित स्‍थान लेकर आए थे। उन्‍होंने जिंदगी के आखिरी 11 दिनों में 10 आतंकियों को ढेर कर दिया था। लांस नायक गोस्‍वामी पिछले साल उत्‍तरी कश्‍मीर के कुपवाड़ा जिले में आतंकियों से लड़ते हुए शहीद हुए थे। वह सेना के उस ऑपरेशन में भी शामिल थे, जिसमें लश्‍कर-ए-तोयबा का आतंकी सज्‍जाद अहमद जिंदा पकड़ा गया था।

कर्नल एसडी गोस्वामी के मुताबिक, गोस्‍वामी ने अपनी जिंदगी के अंतिम 11 दिनों में कश्मीर घाटी में तीन आतंकवाद निरोधी अभियानों में सक्रिय भाग लिया था, जिसमें 10 आतंकवादी मारे गए थे और एक जिंदा पकड़ा गया था। प्रवक्ता ने बताया कि लांस नायक गोस्वामी 2002 में सेना के पैरा कमांडो से जुड़े थे। उन्होंने पिछले साल मीडिया से बात करते हुए बताया था कि लांस नायक ने अपनी इकाई के सभी अभियानों में भाग लिया था। जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद निरोधी कई सफल अभियानों का वह हिस्सा रहे थे। उन्होंने बताया, पहला अभियान खुरमूर, हंदवारा में 23 अगस्त को अंजाम दिया गया था। इस अभियान में पाकिस्तानी मूल के लश्कर-ए-तैयबा के तीन कट्टर आतंकवादी मारे गए थे।

उन्होंने कश्मीर के रफीयाबाद अभियान में स्वेच्छा से भाग लिया। यह अभियान दो दिनों 26 और 27 अगस्त तक चला। इस मुठभेड़ में लश्कर-ए-तैयबा के तीन और आतंकवादी मारे गए। उन्होंने बताया कि इस अभियान में पाकिस्तान के मुजफ्फरगढ़ के रहने वाले लश्कर-ए-तैयबा के आतंकवादी सज्जाद अहमद उर्फ अबू उबैदुल्ला को जिंदा पकड़ा गया था।

लांस नायक गोस्वामी का तीसरा अभियान कुपवाड़ा के पास हफरूदा का घना जंगल था। यह उनका अंतिम अभियान साबित हुआ, लेकिन इस अभियान में चार आतंकवादियों को मार गिराया गया। लांस नायक गोस्वामी नैनीताल में हल्द्वानी के इंदिरा नगर के रहने वाले थे। उनके परिवार में उनकी पत्नी और सात साल की बेटी है।

Read Also: Republic Day Parade : राजपथ पर 26 साल बाद परेड में शामिल हुआ आर्मी का डॉग स्‍क्‍वॉड

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App