बिहार में 6 साल बाद लालू की “रैली”: बोले- BJP राज में रेल-जहाज सब बिक गया, तेजस्वी ने उखाड़ दिया, मैं विसर्जन करने आया हूं

कहा “सीएम नीतीश कुमार अब घबरा गए हैं। कह रहे हैं कि लालू उन्हें मरवा देंगे। अब क्या लालू के पास यही काम रह गया है।”

LALU YADAV, BIHAR EX CM, RJD PRESIDENT
बिहार के मुंगेर जिले के तारापुर क्षेत्र में बुधवार को बोलते राजद नेता तारापुर में आयोजित रैली में राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव। (फोटो- एएनआई)

काफी समय बाद अपने गृह प्रदेश बिहार आए पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव ने बिहार में जनता के सामने पहुंचे तो अपने पुराने अंदाज में लोगों में जोश भर दिया। कहा कि “बीजेपी राज में रेल-जहाज सब बिक गया, तेजस्वी ने उखाड़ दिया, मैं विसर्जन करने आया हूं।” लालू प्रसाद यादव की यह रैली छह साल बाद हो रही है। इस दौरान सभा में भारी भीड़ उमड़ी। कई वर्षों बाद लालू की रैली होने से समर्थकों में उत्साह भी काफी अधिक रहा।

बिहार विधानसभा की दो सीटों के लिए होने वाले उपचुनाव में प्रचार के अंतिम दौर में बुधवार को राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की चुनावी सभा मुंगेर जिले के तारापुर में हुई। यहां से पार्टी प्रत्याशी अरुण कुमार शाह के लिए प्रचार के दौरान राजद नेता ने कहा कि “नीतीश सरकार में कोई काम नहीं हुआ। नीतीश कुमार अब घबरा गए हैं। कह रहे हैं कि लालू उन्हें मरवा देंगे। अब क्या लालू के पास यही काम रह गया है।” बोले- बिहार की जनता ने तेजस्वी यादव को उपमुख्यमंत्री बनाया था।

बताया कि हमने 5000 करोड़ रुपए का रेलवे को फायदा कराया, एनडीए सरकार सब बेचने में लगी है। जनता ने इस बार तेजस्वी को सीएम के लिए वोट दिया था, नीतीश कुमार तो बेईमानी से सीएम बन गए। उनके राज में कुछ नहीं हुआ। जनता इस उपचुनाव में भी राजद को वोट देगी। और एनडीए को उखाड़ कर फेंक देगी।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने सांप्रदायिक शक्तियों के सामने कभी हार नहीं मानी। जो लोग उनके आगे झुके हैं, वे लोग जनता के साथ छल कर रहे हैं। बोले- इस बार जनता सब समझ चुकी है। वह अब और बर्दाश्त नहीं कर सकती है।

लालू प्रसाद यादव ने कहा कि नीतीश की कथनी और करनी अलग-अलग है। वे जो कहते हैं, उसे करते नहीं हैं। बोले कि बिहार में दारूबंदी लागू हुई लेकिन फिर चूहे दारू पी जाते थे। नीतीश बोलते थे कि मिट्टी में मिल जाऊंगा, भाजपा में नहीं जाऊंगा। लेकिन अब वह बीजेपी के साथ सरकार में हैं।

कहा कि सीएम नीतीश ने कहा था कि जो पार्टी बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देगी, वह उसके साथ चले जाएंगे। बीजेपी के साथ आने के बाद भी बिहार को विशेष राज्य का दर्जा नहीं दिया पाए। इससे जनता को समझ जाना चाहिए कि वे क्या कर रहे हैं और क्या करने वाले हैं।

पढें राज्य समाचार (Rajya News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
क्लोजर रिपोर्ट पर सफाई के लिए सीबीआइ ने मांगी मोहलतCoal Scam, Coal, Coalgate, CBI, Report, National News
अपडेट