ताज़ा खबर
 

लालू यादव को भेजा जाएगा ओपन जेल? मिलेंगी अटैच बाथरूम-किचन, साफ पानी और गाय-भैंसे

सीबीआई जज शिवपाल सिंह ने सजा के ऐलान के वक्त लालू की उम्र को ध्यान में रखते हुए उन्हें ओपन जेल में भेजने की अनुशंसा की थी।
आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव चारा घोटाले के दो अन्‍य मामलों में शुक्रवार (12 जनवरी) को रांची स्थित अदालत में पेश हुए। (फोटो सोर्स: फाइल फोटो, पीटीआई)

चारा घोटाले से जुड़े एक मामले में साढ़े तीन साल की सजा काट रहे आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव को बिरसा मुंडा जेल से झारखंड के हजारीबाग की ओपन जेल में भेजने की तैयारी की जा रही है। सीबीआई जज शिवपाल सिंह ने सजा के ऐलान के वक्त लालू की उम्र को ध्यान में रखते हुए उन्हें ओपन जेल में भेजने की अनुशंसा की थी। दरअसल, लालू के साथ अन्य सभी 15 दोषी उम्रदराज हैं, ऐसे में उन सबको ओपन जेल में रखने की तैयारियां की जा रही है। फिलहाल चारा घोटाले से जुड़े मामले में सीबीआई की विशेष अदालत द्वारा दोषी करार दिए जाने के बाद से ही लालू बिरसा मुंडा जेल में बंद हैं।

ओपन जेल में कैदियों को बाकी जेल की तुलना में ज्यादा सुविधाएं दी जाती हैं। इस जेल का उद्घाटन नवंबर 2013 में हुआ था। इसमें करीब 100 कॉटेज हैं। सभी कॉटेज में किचन और बाथरूम अटैच्ड हैं। इसके साथ ही यहां साफ पानी के लिए एक्वागार्ड की व्यवस्था भी की गई है। लालू ने सीबीआई कोर्ट के सामने कहा था कि उन्हें बिरसा मुंडा जेल में साफ पानी नहीं मिलता है। इसके अलावा वहां लालू के लिए गाय और भैंस भी रखी जाएंगी। जज शिवपाल ने टिप्पणी की थी कि लालू को गाय पालने का अनुभव है, ऐसे में उनके लिए हजारीबाग की ओपन जेल सही रहेगी। यहां करीब 10-12 गाय रखी जाएंगी।

बता दें कि शनिवार के दिन लालू यादव को अदालत ने भारतीय दंड संहिता की धारा 120बी, 420, 467, 471एवं 477ए के तहत जहां साढ़े तीन वर्ष कैद एवं पांच लाख रुपये जुर्माने की सजा सुनायी वहीं उन्हें भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम (पीसी एक्ट) की धारा 13 (2) के तहत 13(1) सी एवं डी के आधार पर दोषी करार देते हुए भी अलग से साढ़े तीन वर्ष की कैद एवं पांच लाख रुपये जुर्माने की सजा सुनायी। अदालत ने बाद में स्पष्ट किया कि लालू की दोनों सजायें एक साथ चलेंगी। जुर्माना न अदा करने की स्थिति में लालू यादव को छह माह अतिरिक्त जेल की सजा काटनी होगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App