पुलिसिया घेरे में अपना VIDEO शेयर करते हुए दीपेंद्र हुड्डा ने याद किया रफी साहब का गाना, ‘तू जहां-जहां चलेगा, मेरा साया साथ होगा’

यूपी पुलिस की हिरासत में कैद कांग्रेस नेता दीपेंद्र हुड्डा ने रफी साहब के गाने के बहाने पुलिस पर निशाना साधा है। दीपेंद्र ने हिरासत में टहलने की अनुमति मांगी थी, जिसके बाद पुलिस ने उनके सामने एक शर्त रख दिया था।

deependra hooda, lakhimpur kheri, up police
पुलिस हिरासत में दीपेंद्र हुड्डा (फोटो- वीडियो स्क्रीनशॉट @DeependerSHooda)

लखीमपुर के लिए प्रियंका गांधी के साथ निकले कांग्रेस नेता दीपेंद्र हुड्डा यूपी पुलिस की हिरासत में हैं। हिरासत के दौरान अचानक से दीपेंद्र हुड्डा को मशहूर गायक रफी साहब याद आ गए। ये जानकारी खुद कांग्रेस नेता ने ट्वीट कर दी है।

दरअसल पुलिस की हिरासत में कैद दीपेंद्र हुड्डा ने जब वॉक करने की इजाजत मांगी तो पुलिस ने इजाजत तो दी, लेकिन इसके साथ ही एक शर्त उनके सामने रख दी। इसी शर्त पर उन्हें रफी साहब का गाना “तू जहां-जहां चलेगा…” याद आ गया।

दीपेंद्र हुड्डा से ट्वीट कर कहा- यूपी पुलिस का सलूक देख के मुझे अचानक रफी साहब याद आ गए- तू जहां जहां चलेगा मेरा साया साथ होगा मेरा साया, मेरा साया… आज हिरासत मे दो दिन के बाद आखिरकार मुझे शाम को छावनी के भीतर आधा घंटा वॉक करने की इजाजत तो दी गई। बस शर्त थी कि हर कदम साथ पुलिसकर्मी तैनात रहेंगे।

दीपेंद्र हुड्डा हरियाणा कांग्रेस के नेता और हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा के बेटे हैं। हुड्डा सोमवार को प्रियंका गांधी के साथ लखीमपुर हिंसा के पीड़ित किसानों और उनके परिवारों से मिलने के लिए यूपी पहुंचे थे। लखनऊ से तो प्रियंका गांधी का काफिला निकल गया लेकिन हरगांव से के पास पुलिस ने उन्हें रोक लिया। जिसके बाद प्रियंका गांधी और दीपेंद्र हुड्डा के साथ पुलिस की काफी देर तक बहस होती रही। जिसके बाद दोनों को यूपी पुलिस ने हिरासत में ले लिया था।

बता दें कि लखीमपुर हिंसा में जहां चार किसानों, तीन भाजपा कार्यकर्ता और एक स्थानीय पत्रकार की मौत हो गई है, वहीं दर्जनों लोग घायल हो गए हैं। किसानों का आरोप है कि केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे की गाड़ियां, पीछे से किसानों को रौंदते हुए निकल गई। जिसमें चार किसान मारे गए। इसके बाद हिंसा भड़क उठी।

इस मामले में सरकार और किसानों के बीच समझौता भी हो गया है, जिसमें प्रशासन ने उनकी मांगो को पूरा करने के लिए सात दिनों का समय मांगा है। बुधवार को राहुल गांधी, प्रियंका गांधी और पंजाब-छत्तीसगढ़ के सीएम के साथ पीड़ित किसानों और उनके परिवारों से मिलने के लिए लखीमपुर रवाना हो गए हैं।

पढें राज्य समाचार (Rajya News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट