ताज़ा खबर
 

करीब 40 हजार एलईडी लाइट्स से जगमग हुआ Kumbh, दिखा सेल्फी का क्रेज

कल (15 जनवरी) से प्रयागराज में कुंभ की शुरुआत हो रही है। ऐसे में प्रदेश और केन्द्र सरकार ने इसे हरसंभव बेहतर बनाने की कोशिश की है।

एलईडी लाइट्स से जगमगाता कुंभ मेला, फोटो सोर्स- स्थानीय

कल (15 जनवरी) से प्रयागराज में कुंभ की शुरुआत हो रही है। ऐसे में प्रदेश और केन्द्र सरकार ने इसे हरसंभव बेहतर बनाने की कोशिश की है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और पीएम नरेन्द्र मोदी ने कुंभ को आकर्षक और सुविधाजनक बनाने के लिए कई प्रयास किए हैं। बता दें कि पिछली बार की मुताबिक इस बार कुंभ मेले का क्षेत्र बढ़ा है। वहीं कुंभ में लगी एलईडी लाइट्स भी सभी को काफी आकर्षित कर रही हैं। ऐसे में वहां पहुंचे श्रद्धालु जमकर इस माहौल का लुत्फ उठा रहे हैं। वहीं सेल्फी क्रेज भी काफी देखने को मिल रहा है।

चालीस हजार एलईडी लाइट्स: बता दें कि कुंभ को यूनेक्सको की तरफ से ‘मानवता की अमूर्त सांस्कृतिक विरासत’ के रूप में मान्यता प्राप्त है। जानकारी के मुताबिक इस बार मेले में करीब 40,000 एलईडी लाइट्स लगाई गई हैं। इसके साथ ही 1.22 लाख शौचालय, 22 पॉन्टून पुल और 250 किलोमीटर की नई सड़क भी बनाई गई है। वहीं श्रद्धालु इस धार्मिक मेले में लेजर शो का भी मजा ले सकेंगे।

कल से शुरू होगा कुंभ: बता दें कि मकर संक्रांति के दिन (15 जनवरी) से कुंभ मेले की शुरुआत होगी। इसके साथ ही 4 मार्च को महाशिवरात्रि के साथ ही इस मेले का आखिरी स्नान आयोजन होगा। यानि करीब 50 दिनों तक कुंभ में स्नान का अवसर रहेगा। गौरतलब है कि हरिद्वार, नासिक, उज्जैन और प्रयागराज में ही कुंभ और अर्धकुंभ का आयोजन होता है। जिसमें नासिक में गोदावरी नदी के तट पर, उज्जैन में क्षिप्रा नदी के तट पर, हरिद्वार और प्रयाग में गंगा नदी के तट पर आयोजन होता है। वहीं सबसे बड़ा मेला कुंभ 12 सालों के अंतर में तो वहीं 6 वर्षों के अंतर में अर्ध कुंभ के नाम से मेले का आयोजन होता है।

किस तारीख को होगा शाही स्नान: कुंभ 15 जनवरी से 4 मार्च तक चलेगा। इस दौरान हर दिन स्नान होगा। लेकिन कुंभ में शाही स्नान की काफी अहमियत होती है। ऐसे में बता दें कि 15 जनवरी को पहला शाही स्नान, 04 फरवरी को दूसरा शाही स्नान और 10 मार्च को तीसरी शाही स्नान होगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App