ताज़ा खबर
 

Kumbh Mela 2019: प्रयागराज में धर्म और राजनीति का ‘संगम’

Kumbh Mela 2019 Prayagraj (Allahabad): बात चंद महीने पहले की है। पूरा प्रयागराज उथल-पुथल था। हालात ऐसे थे कि शहर बदइंतजामी के लिए बदनाम हो रहा था। लोग लगातार यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ-साथ प्रधानमंत्री को भी कोस रहे थे।

Author Updated: January 15, 2019 3:57 PM
प्रयागराज का कुंभ, फोटो सोर्स- कुमार सम्भव जैन

Kumbh Mela 2019: प्रयागराज से कुमार सम्भव जैन: बात चंद महीने पहले की है। पूरा प्रयागराज उथल-पुथल था। हालात ऐसे थे कि शहर बदइंतजामी के लिए बदनाम हो रहा था। लोग लगातार यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ-साथ प्रधानमंत्री को भी कोस रहे थे। अचानक शहर का हुलिया बदला और चौड़ी सड़कें, पर्याप्त फ्लाईओवर और साफ-सफाई ने लोगों के चेहरों की चमक बढ़ा दी। अब लोगों का कहना है कि हमें थोड़ी दिक्कत जरूर हुई, लेकिन अब कुंभ मेले के दौरान शहर का मान भी बढ़ रहा है। उनका मानना है कि धर्म के लिए थोड़ा-बहुत कष्ट झेला जा सकता है। यकीनन प्रदेश और केंद्र सरकार लोगों के दिलों में धर्म और राजनीति का ‘संगम’ तैयार करने में कामयाब रही है।

मोदी-योगी के साथ सेल्फी लेने का क्रेज बढ़ा : पूरे कुंभ मेला परिसर में जगह-जगह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ के होर्डिंग लगे हैं। इन पर केंद्र और प्रदेश सरकार के काम-काज का जिक्र किया गया है। वहीं, संगम के पास पीएम मोदी व सीएम योगी के कटआउट भी लगे हुए हैं, जिनके साथ लोग जमकर सेल्फी ले रहे हैं। देखा जाए तो असंख्य श्रद्धालुओं, हजारों टेंट, साधु-संतों और भक्ति की धारा के बीच कुंभ मेले में राजनीति की भी धारा बह रही है।

यह कहना है लोगों का : अलोपीबाग में फोटो स्टूडियो चलाने वाले सिद्धार्थ शहर में हुए डेवलपमेंट के दौरान अपनी दुकान गंवा बैठे। मोदी-योगी सरकार को लेकर उनके मन में गुस्सा जरूर है, लेकिन शहर में हुए कार्यों पर खुशी भी जताते हैं। ओला कैब में टैक्सी चलाने वाले पंकज कहते हैं कि कुछ समय पहले तक शहर में एक कोने से दूसरे कोने तक जाना आसान नहीं था, लेकिन अब हालात पूरी तरह बदल गए हैं। अब जगह-जगह जाम से नहीं जूझना पड़ता। संगम घाट पर स्नान करने के बाद बांदा के प्रमोद बताते हैं कि वे कई बार कुंभ आ चुके हैं, लेकिन इस बार इंतजाम काफी बेहतर हैं।

पानी की बोतल तक ब्रैंड बीजेपी : कुंभ मेला क्षेत्र में कई ऐसे काम किए गए हैं, जिससे श्रद्धालु बीजेपी का नाम लिए बिना नहीं रह पाते हैं। इनमें से एक मेला क्षेत्र में बिक रही पानी की बोतल भी है। इस बोतलबंद पानी का ब्रैंड नेम ‘अटल’ दिया गया है। केसरिया और हरे रंग के लेबल वाली यह बोतल लोगों को बीजेपी से जोड़ती हुई नजर आती है।

नए अवतार में यूपी पुलिस : बात यूपी पुलिस की हो तो डांटता-फटकारता दरोगा ही जेहन में बस जाता था, लेकिन पूरे प्रयागराज में मौजूद पुलिसकर्मी इस छवि को तोड़ते नजर आते हैं। कोई भी श्रद्धालु पुलिसकर्मी से कुछ जानकारी मांगता है तो पूरे धैर्य के साथ मदद की जा रही है। साथ ही, सटीक जानकारी देने की कोशिश भी की जाती है। अगर पुलिसकर्मी को संबंधित बात नहीं पता होती है तो भी दूसरे साथी से पूछकर बताने की कोशिश करता है।

धर्म सभा तक में देश पर चिंतन : अक्षयवट मार्ग पर रामजन्म भूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास का शिविर लगा हुआ है। यहां श्रद्धालुओं के लिए मशीनों से खाना बनाने की व्यवस्था की गई है। वहीं, प्रवचन के दौरान महंत जी राष्ट्र, धर्म और समाज के बारे में चिंतन करने की सलाह देते नजर आते हैं। उनका कहना है कि कुंभ में स्नान, ध्यान और मोक्ष की बात होती है। यहीं से धर्म की दिशा तय होती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 बीजेपी का यूपी प्लान: कमल कप क्रिकेट टूर्नामेंट, किसान कुंभ, कमल ज्योति समारोह…
2 22 साल से लिव-इन में रह रहे बुजुर्ग ने बांधा सेहरा
3 ओडिशा: जनता को पीएम मोदी ने दी 1500 करोड़ की सौगात, विपक्ष पर किया हमला, कहा- चुनाव तो आते जाते रहेंगे