ताज़ा खबर
 

देशभर के मंदिरों में हरे कृष्णा, हरे रामा की रही गूंज

भगवान कृष्ण के जन्मोत्सव के मौके पर गुरुवार को राजधानी समेत देशभर के मंदिरों में हरे कृष्णा, हरे रामा की गूंज रही।

Author नई दिल्ली | August 26, 2016 04:05 am

भगवान कृष्ण के जन्मोत्सव के मौके पर गुरुवार को राजधानी समेत देशभर के मंदिरों में हरे कृष्णा, हरे रामा की गूंज रही। छोटे-छोटे बच्चे कन्हैया की पोशाक पहन कर मंदिरों में झांकी देखने आए लोगों के आकर्षण का केंद्र रहे। देशभर में ज्यादातर लोगों ने इस मौके पर व्रत रखा है जिसे भगवान कृष्ण के जन्म के उद्घोष के बाद खोला जाएगा। भगवान कृष्ण की जन्मस्थली मथुरा और वृंदावन में लाखों तीर्थयात्रियों ने मुख्य मंदिरों में पूजा अर्चना और गोवर्धन पर्वत की परिक्रमा की।

इंटरनेशनल सोसायटी आफ कृष्णा कांशियसनेस (इस्कान) के मंदिरों में बड़ी संख्या में लोग एकत्र हुए। महाराष्ट्र में हजारों लोग भगवान कृष्ण के बचपन से जुड़ी घटनाओं को नृत्य नाटिका के रूप में पेश किया। उत्तर भारत में कृष्ण जन्माष्टमी के मौके पर गीतों और नृत्यों का आयोजन किया गया। रात में भगवान कृष्ण की प्रतिमा को नहलाया गया और नगाड़ों की धूमधाम के साथ उन्हें फूलों से सजे पालने में बिठा कर झुलाया गया।

इस त्योहार के मौके पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे और संवेदनशील स्थलों पर अतिरिक्त सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया था।
भगवान कृष्ण और राधा की पोशाक पहने छोटे बच्चे मंदिरों, गली मोहल्लों में विशेष आकर्षण का केंद्र रहे जबकि जम्मू में लोगों ने पतंग उड़ा कर जन्माष्टमी मनाई। इस मौके पर विशेष शोभा यात्राएं भी निकाली गईं। राजस्थान की राजधानी जयपुर में हजारों लोग गोविंद देवजी के मंदिर में एकत्र हुए। पंजाब के फगवाड़ा जिले में केवल महिलाओं के लिए बने मंदिर श्रीसंधूरण देवी मंदिर के द्वार इस मौके पर पुरुषों के लिए भी खोले गए।

सालभर इस मंदिर में पुरुषों का प्रवेश वर्जित होता है और केवल जन्माष्टमी के मौके पर ही पुरुषों को मंदिर में प्रवेश की अनुमति दी जाती है। तमिलनाडु में मकानों को भगवान कृष्ण की मूर्तियों से सजाया गया था और भगवान को दूध, घी और मक्खन से बनी मिठाई सिदाई का भोग लगाया गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App