ताज़ा खबर
 

6 महीने के बेटे को डुबाकर मार डाला, सोने चली गई, फिर दोबारा उठकर पति संग ढूंढने लगी!

राजस्थान के कोटा में एक महिला ने अपने 6 महीने के बेटे को डुबाकर मार डाला और परिवार को गुमराह करने के लिए खोजबीन में जुट गई।

(प्रतीकात्मक तस्वीर- इंडियन एक्सप्रेस)

राजस्थान के कोटा से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां एक महिला पर अपने ही छह वर्षीय बच्चे को पानी में डुबाकर मारने का आरोप लगा है। यही नहीं महिला हत्या करने के बाद परिवार के साथ मिलकर खोजबीन में भी लगी रही। फिलहाल पुलिस ने आरोपी महिला को हिरासत में ले लिया है, जहां उसने अपना जुर्म कुबूल कर लिया है। बताया जा रहा है कि कुछ समय पहले महिला के दो और बच्चों की नेचुरल डेथ हुई थी।

क्या है मामला: पुलिस ने मंगलवार को बताया कि राजस्थान के कोटा में एक 35 वर्षीय महिला ने अपने छह महीने के बच्चे को पानी के टैंक में डुबाकर मार दिया। पुलिस के मुताबिक महिला ने कथित तौर पर रविवार की रात गहरी नींद में इस अपराध को अंजाम दिया। आरोपी महिला की पहचान शहर की सरस्वती कॉलोनी निवासी दीपिका गुर्जर के रूप में हुई है, जिसे आईपीसी की धारा 302 के तहत गिरफ्तार कर लिया गया है। एसएचओ ने आगे कहा कि महिला ने उन्हें बताया कि वह अनजाने में बच्चे को पानी की टंकी में ले गई और उसमें डूब गई। अपराध के पीछे का मकसद अभी तक पता नहीं चला है।

कैसे हुई वारदात: इस घटना का पता तब चला जब आरोपी महिला के पति सीताराम गुर्जर, जो कि एक स्कूल में टीचर हैं, ने बेटे को रात 1.30 बजे करीब गायब पाया। पुलिस ने बताया कि आरोपी महिला अपने पति सीताराम और सास केलाबाई को बिना कुछ बताए बच्चे की तलाश में शामिल हो गई। खोजबीन के दौरान सास को पानी की टंकी में बच्चा मिला। पुलिस के अनुसार, यह मामला रविवार दोपहर तक उनके पास पहुंच गया लेकिन महिला सोमवार दोपहर तक उन्हें गुमराह करती रही। लेकिन बाद में पूछताछ के दौरान वह मजबूर हो गई और अपराध कबूल कर लिया। बोरखेड़ा थाने के एसएचओ हरेंद्र सिंह ने कहा कि महिला ने उन्हें बताया कि वह ‘अनजाने में’ बच्चे को पानी की टंकी में ले गई और उसमें डूब गई।

पुलिस कर रही जांच: पुलिस के मुताबिक आरोपी महिला के वारदात अंजाम देने के वक्त पति और सास दोनों बच्चे के साथ सो रहे थे। उन्होंने कहा कि महिला मानसिक रूप से भी सही थी, लेकिन फिर भी वे इस पहलू की भी जांच कर रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X