ताज़ा खबर
 

पीएम नरेंद्र मोदी ने किया कोच्चि मेट्रो का उद्घाटन, पिनाराई विजयन, वेंकैया नायडू और ई श्रीधरन के साथ सवारी भी की

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोच्चि मेट्रो का उद्घाटन किया।

कोच्चि मेट्रो: पीएम नरेंद्र मोदी ने उद्घाटन के बाद की सवारी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोच्चि मेट्रो के प्रथम चरण को शनिवार (17 जून) राष्ट्र को समर्पित किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस अवसर पर उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए जोर दिया कि शहरी योजना तैयार करने की पहल में आमूलचूल बदलाव की जरूरत है और इसे लोकोन्मुखी बनाया जाना चाहिए, साथ ही इससे भूमि के उपयोग एचं परिवहन व्यवस्था को जोड़ा जाना चाहिए। मोदी ने कहा, ” पिछले तीन वर्षों के दौरान मेरी सरकार ने देश के आधारभूत ढांचे के सम्पूर्ण विकास पर विशेष ध्यान दिया है।”

उन्होंने कहा, ” प्रगति बैठकों में मैंने स्वयं करीब 175 परियोजनाओं की समीक्षा की जो करीब 8 लाख करोड़ रूपये से अधिक की है और इस बारे में रूकावटों को दूर करने का काम किया । ” प्रधानमंत्री महत्वाकांक्षी बहुउद्देश्यीय एवं बहुविध प्लेटफार्म ”प्रगति” का जिक्र कर रहे थे । मोदी ने कहा कि सरकार अगली पीढी के अधारभूत संरचना पर ध्यान दे रही है जिसमें लाजिस्टिक्स, डिजिटल और गैस क्षेत्रा शामिल है। प्रधानमंत्री ने अपना भाषण मलयाली में शुरू किया और कहा कि वे कोच्चि मेट्रो के उद्घाटन का हिस्सा बनकर काफी खुश हैं।

कोच्चि मेट्रो का विस्तार 27 किलोमीटर तक किया जाएगा जबकि इसका पहला फेज 13.3 किलोमीटर का होगा। कोच्चि देश का ऐसा पहला शहर है जहां वाटर मेट्रो बनी है। यहां मेट्रो के लिए फीडर सर्विस की सुविधा होगी। साथ ही ये भारत का एकीकृत मल्टी-मॉडल ट्रांसपोर्ट सिस्टम होगा। ये देश की पहली ऐसी मेट्रो होगी जहां ट्रांसजेंडर लोगों की नियुक्ति की गई है। 23 ट्रांसजेंडरों को उद्घाटन से पहले ही नियुक्त किया जा चुका है।

केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री एम.वेंकैया नायडू ने कहा कि कोच्चि मेट्रो का निर्माण 45 महीनों के भीतर पूरा किया गया है, जो सबसे तीव्र गति से पूरी हुई मेट्रो परियोजना है।इस 13 किलोमीटर लंबी रेलवे लाइन में पलारीवत्तोम से अलुवा तक 22 स्टेशन हैं। आम जनता के लिए मेट्रो सोमवार से सुबह छह बजे से खुल जाएगी। कोच्चि मेट्रो का काम साल 2012 में शुरू हुआ था।

देखिए फोटोज

Prime Minister, Narendra Modi, Kochi Metro, special things इस योजना के लिए कुल 5,180 करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान रखा गया था। मेट्रो में इस्तेमाल होने वाली बिजली के 25 फीसदी हिस्से का उत्पादन इन्हीं पैनलों से करने का लक्ष्य रखा गया है। ये देश की पहली ऐसी मेट्रो होगी जहां ट्रांसजेंडर लोगों की नियुक्ति की जाएगी। माना जा रहा है कि 23 ट्रांसजेंडरों को उद्घाटन से पहले ही नियुक्त किया जा चुका है। कोच्चि मेट्रो का विस्तार 27 किलोमीटर तक किया जाएगा जबकि इसका पहला फेज 13.3 किलोमीटर का होगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App