ताज़ा खबर
 

बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए आगे आए नन्हे हाथ, भाई-बहन ने फोड़ दिया गुल्लक

हारून यूकेजी में पढ़ता है तो दिया चौथी कक्षा की छात्रा है। दोनों बच्चों ने रविवार को अपना गुल्लक बाढ़ पीड़ितों के लिए फोड़ दिया। दोनों बच्चे साल 2016 से गुल्लक में पैसे जमा कर रहे थे।

हारून और दिया (फोटो सोर्स- फेसबुक/Fathimma Sidhique)

केरल में बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए बहुत से लोग आगे आ रहे हैं। एक तरफ एनडीआरएफ की टीमें राहत एवं बचाव का काम कर रही हैं तो वहीं दूसरी तरफ लोग चीफ मिनिस्टर डिजास्टर रिलीफ फंड (CMDRF) के जरिए लोगों की मदद कर रहे हैं। बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए बहुत से लोग आगे आ रहे हैं, लेकिन इन सभी मदद करने वाले लोगों में दो मासूम बच्चे भी शामिल हैं। मासूम बच्चे जिन्हें अभी दुनिया की ज्यादा समझ नहीं है, उन्होंने केरल में बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए अपना गुल्लक फोड़ दिया और उसमें निकले पैसे CMDRF के जरिए बाढ़ पीड़ितों मदद करने के लिए पहुंचा दिए।

हम बात कर रहे हैं कोच्चि में रहने वाले भाई-बहन हारून और दिया की। हारून यूकेजी में पढ़ता है तो दिया चौथी कक्षा की छात्रा है। दोनों बच्चों ने रविवार को अपना गुल्लक बाढ़ पीड़ितों के लिए फोड़ दिया। दोनों बच्चे साल 2016 से गुल्लक में पैसे जमा कर रहे थे। डेक्कन क्रॉनिकल के मुताबिक बच्चों की मां फातिमा ने फेसबुक पेज पर अपने बच्चों की तस्वीर शेयर कर गुल्लक फोड़ने की जानकारी दी। फातिमा ने फेसबुक पर लिखा, ‘दोनों बच्चे पैसे हमेशा पैसे बचाते हैं और जोड़ते हैं। रिश्तेदारों से ईद के मौके पर भी उन्हें जो भी पैसे मिलते हैं वह उसे गुल्लक में डाल देते हैं।’

HOT DEALS
  • Honor 7X 64 GB Blue
    ₹ 15375 MRP ₹ 16999 -10%
    ₹0 Cashback
  • Apple iPhone 6 32 GB Space Grey
    ₹ 24990 MRP ₹ 30780 -19%
    ₹3750 Cashback

फातिमा ने आगे लिखा, ‘दो दिनों से हमारे बच्चे हमें कपड़े और बाकी चीजें रिलीफ कैंप को देते देख रहे थे। हमें ऐसा करता देख वो हमारे पास आए और अपने गुल्लक के पैसे CMDRF को देने की इच्छा जताई, मुझे यह सुनकर बहुत खुशी हुई। (इससे पहले जब मछली खरीदने के लिए पैसे कम पड़ रहे थे तब उन्होंने मुझे गुल्लक से पैसे लेने से मना कर दिया था।) दोनों ने गुल्लक फोड़कर पैसे गिने, उनके पास 2210 रुपए निकले। मैं जानती हूं कि ये बहुत कम है, लेकिन उन्होंने अपना रोल निभाया और हमने इन पैसों को सीएमडीआरएफ को डोनेट करने का फैसला किया।’ इसके अलावा एक स्टूडेंट आचू ने भी स्टडी टेबल खरीदने के लिए जोड़े पैसों को रविवार को CMDRF में देने का फैसला किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App