ताज़ा खबर
 

MP: बदमाशों ने दोनों बच्चों से पूछा- हमें पहचान लोगे, ‘हां’ सुनते ही नदी में फेंक दिया, मामले में 4 पुलिसकर्मी सस्पेंड

मध्य प्रदेश के चित्रकूट में किडनैप करके जुड़वा भाइयों की हत्या करने के मामले में सतना जिले के 4 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है। इस मामले में बदमाशों ने पहचान होने के डर से 20 लाख की फिरौती लेने के बाद भी दोनों मासूमों की हत्या कर दी थी।

प्रतीकात्मक फोटो (फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस )

मध्य प्रदेश के चित्रकूट में किडनैप करके जुड़वा भाइयों की हत्या करने के मामले में सतना जिले के 4 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है। इनमें नयागांव के थाना इंचार्ज केपी त्रिपाठी, ट्रैफिक सब-इंस्पेक्टर सुधांशु तिवारी, हेड कॉन्स्टेबल शिव प्रसाद और कॉन्स्टेबल चंद्रकांत पांडेय शामिल हैं। वहीं, बदमाशों ने पूछताछ में फिरौती मिलने के बाद भी बच्चों की हत्या करने की वजह भी बताई। आरोपियों ने कहा कि उन्हें डर था बच्चे उन्हें पहचान सकते हैं। ऐसे में उन्होंने दोनों को हाथ-पैर बांधकर नदी में फेंक दिया।

आरोपियों ने कबूला जुर्म : पुलिस के मुताबिक, आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि 20 लाख रुपये मिलने के बाद वे बच्चों को छोड़ने का मन बना रहे थे। उस दौरान उन्होंने बच्चों से सवाल पूछा कि क्या वे उन्हें पहचान लेंगे? बच्चों ने मासूमियत से ‘हां’ में जवाब दे दिया। इसके बाद बदमाशों ने दोनों बच्चों की पीठ पर पत्थर बांध दिया और हाथ-पैर में लोहे की जंजीरें डाल दीं। इसके बाद उन्हें नदी में फेंक दिया गया। आरोपियों ने बताया कि उन्होंने विडियो गेम के जरिए बच्चों को लुभाए रखा था, जिसके चलते उन्होंने परेशान नहीं किया।

पीड़ित पिता ने की यह मांग : दोनों बच्चों के पिता बृजेश रावत ने कहा, ‘मैं प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ और देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सीबीआई जांच की मांग करता हूं। मैंने अपने बच्चों को खो दिया है, लेकिन किसी और के साथ ऐसा नहीं होना चाहिए। हम राजनीति नहीं चाहते, हम न्याय चाहते हैं।’’ वहीं, पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार को भविष्य में इस प्रकार की घटनाओं को रोकने के लिए कदम उठाने चाहिए। स्कूल और कॉलेजों में सुरक्षा बंदोबस्त कड़े होने चाहिए। वहीं, इस वारदात के आरोपियों को जल्द सजा मिलनी चाहिए।

 

यह है मामला : बता दें कि चित्रकूट के सद्गुरु पब्लिक स्कूल में यूकेजी में पढ़ने वाले दो जुड़वा भाइयों को बाइक सवार बदमाशों ने 12 फरवरी को स्कूल बस से ही अगवा कर लिया था। आरोपियों ने पहले 2 करोड़ रुपए की फिरौती मांगी थी, लेकिन सौदा 20 लाख पर तय हुआ था। पैसा मिलने के बाद अपहरणकर्ताओं ने दोनों भाइयों प्रियांश और श्रेयांश की हत्या कर दी। पुलिस इस मामले में 6 आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App