ताज़ा खबर
 

शौच के लिए गई नाबालिग छात्रा से बलात्कार, दो गिरफ्तार, तीसरा फरार

दनकौर इलाके के एक गांव की रहने वाली 14 साल की पीड़ित किशोरी गांव के ही एक इंटर कॉलेज में नौवीं कक्षा में पढ़ती है। सोमवार सुबह वह घर से अकेली शौच के लिए जा रही थी। आरोप है कि तभी पड़ोसी गांव के तीन युवक स्विफ्ट कार में आए और छात्रा का अपहरण कर लिया।

तस्वीर का प्रयोग प्रतीक के तौर पर किया गया है। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

दनकौर के एक गांव में सोमवार सुबह नौवीं कक्षा की एक छात्रा का अपहरण कर उसके साथ सामूहिक बलात्कार का मामला सामने आया है। बलात्कार का आरोप पड़ोसी गांव के तीन युवकों पर लगा है। दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। मुख्य आरोपी पीड़ित छात्रा की सहेली का दोस्त बताया जा रहा है। छात्रा के परिजनों की शिकायत पर दनकौर थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

दनकौर इलाके के एक गांव की रहने वाली 14 साल की पीड़ित किशोरी गांव के ही एक इंटर कॉलेज में नौवीं कक्षा में पढ़ती है। सोमवार सुबह वह घर से अकेली शौच के लिए जा रही थी। आरोप है कि तभी पड़ोसी गांव के तीन युवक स्विफ्ट कार में आए और छात्रा का अपहरण कर लिया। आरोपी युवक छात्रा को धनौरी गांव के जंगल में ले गए। जहां उन्होंने उसके साथ सामूहिक बलात्कार किया। पीड़िता के विरोध करने पर आरोपियों ने उसके साथ मारपीट भी की। घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी छात्रा को जंगल में फेंककर फरार हो गए। राहगीरों से मदद मांगकर जैसे-तैसे छात्रा घर पहुंची। इसके बाद परिजनों ने पुलिस को घटना की सूचना दी।

पीड़ित पक्ष ने झालड़ा गांव में रहने वाले अजय उर्फ कालू और सुरेंद्र उर्फ कालू सहित तीन लोगों के खिलाफ पॉक्सो एक्ट सहित अन्य गंभीर धाराओं में मामला दर्ज कराया है। सीओ-2 पीयूष कुमार सिंह ने बताया कि शिकायत के आधार पर तीन आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। पुलिस ने अजय और सुरेंद्र को गिरफ्तार कर लिया है। तीसरे आरोपी की तलाश की जा रही है।

अवैध वाहनों पर पुलिस का शिकंजा, सौ चालान काटे

अलीपुर में रविवार को वाहनों चालकों के बीच हुई मारपीट और गोलीबारी पर सख्त कदम उठाते हुए दिल्ली यातायात पुलिस ने अवैध वाहन चालकों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की। पुलिस ने हरियाणा और दिल्ली के बीच चलने वाले करीब 100 वाहनों के चालान काटे और कई वाहन जब्त भी किए। जिला पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि अलीपुर और जीटी करनाल रोड के बीच कई वाहन अवैध रूप से सवारियों को लाते-लेजाते हैं। ये वाहन चालक सवारी बैठाने वाले अनजान वाहन चालकों के साथ मारपीट करने पर उतारू जाते हैं।

रविवार को भी इन वाहन चालकों को शक हुआ था कि एक अंजान वाहन चालक धीरज उनकी सवारी बैठा रहा है, जबकि वह उसके परिवार वाले थे। इसी दौरान कहासुनी के बाद बदमाशों ने पीछा कर धीरज पर कई गोलियां चलाई थी, जिसमें से एक गोली सड़क पर पानी बचने वाले संतोष के पैर में जा लगी थी। पुलिस का कहना है कि फिलहाल ऐसे चालकों की पहचान कर उनका चालान काटा जा रहा है। यदि फिर भी वाहन चालक नहीं माने तो वाहन जब्त कर लिए जाएंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App