ताज़ा खबर
 

पुलिस पर भड़के ब्राह्मण, थाना प्रभारी ने हाथ जोड़ कर मांगी माफी

ब्राह्मणों द्वारा निकाली गई परशुराम की रैली से पुलिस ने छीना फरसा और बाद में हुआ जमकर हंगामा।

प्रतीकात्मक तस्वीर।

जयपुर में रविवार को ब्राह्मण समाज की ओर से परशुराम शोभायात्रा निकाली गई। ब्राह्मण समाज द्वारा निकाली गई यह शोभायात्रा जयपुर के खानिया मंदिर से 52 फीट हनुमान मंदिर तक निकाली गई। ब्राह्मणों का आरोप है कि यात्रा में कुछ पुलिस वालों ने बाधा डालने की कोशिश की। जबकि इस यात्रा को निकालने के लिए ब्राह्मण समाज ने पहले से ही पुलिस- प्रशासन से स्वीकृति ली थी, इसके बावजूद भी उन्हें ठीक से यात्रा नहीं निकालने दी गई। ब्राह्मण समाज के लोगों ने खो-नागोरियन के पुलिस प्रभारी इंद्राज मरोडिया पर आरोप लगाते हुए कहा कि उन्होंने भगवान परशुराम को लेकर अपमानजनक टिप्पणी की और उनका फरसा छीना।

इसके बाद ब्राह्मण समाज और पुलिस के लोगों बीच हाथापाई हो गई। मामला इतना बढ़ गया कि बाद में आस-पास के लोग भी रैली में शामिल हो गए और थाना प्रभारी को अलग स्थान पर लेकर चले गए। हालांकि, बाद में उनके माफी मांगने पर मामला शांत हो गया। थाना प्रभारी ने कहा कि उन्होंने किसी को ठेस नहीं पहुंचाई है और यदि किसी को ऐसा लगा है तो वह हाथ जोड़कर माफी मांगते हैं।

बता दें कि थाना प्रभारी ने कहा कि वह इस यात्रा में हथियार को ले जाने के लिए मना कर रहे थे। दरअसल, रैली के दौरान ब्राह्मण समाज के लोगों ने फरसा भी रखा था, क्योंकि वह परशूराम का मुख्य शस्त्र है।  वहीं, दूसरी ओर इस मामले को लेकर जयपुर पुलिस ने किसी तरह की जानकारी नहीं दी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App