ताज़ा खबर
 

UP में खाकी शर्मसारः घर में घुस महिला को लात-घूंसे से पीटने का आरोप! वायरल VIDEO में जुल्म के बीच बच्चे बिलखते पर न आया तरस

मामला राजीगंज कोतवाली के भागीपुर गांव का बताया जा रहा है।

Author Edited By अभिषेक गुप्ता नई दिल्ली/प्रतापढ़ | Updated: October 19, 2020 10:02 AM
प्रयागराज की इस घटना से जुड़े वायरल वीडियो की शुरुआत में महिला को डंडों से पीटने की आवाज आ रही थी। (फोटोः टि्वटर स्क्रीनग्रैब)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली BJP सरकार के शासन में खाकी फिर शर्मसार हुई है। प्रतापगढ़ में पुलिस पर एक महिला को घर में घुसकर लात-घूंसों से बुरी तरह पीटने का आरोप लगा है। कहा जा रहा है कि मारपीट में दारोगा भी शामिल था। घटना से जुड़े वायरल वीडियो में तीन से चार पुलिस कर्मचारी महिला को पकड़ कर हड़काते और पीटते नजर आ रहे थे। हैरत की बात है कि वाकये के दौरान घर में छोटे बच्चे के रोने की आवाज आ रही थी, पर फिर भी पुलिस वाला महिला पर डंडे से वार करता रहा। उसे महिला की चीख और मासूम के आंसुओं पर जरा भी तरस न आया।

टि्वटर पर पत्रकार सूरज शुक्ला ने घटना से जुड़ी क्लिप शेयर की है, जिसमें उन्होंने बताया कि यह मामला राजीगंज कोतवाली के भागीपुर गांव का है। इस शर्मनाक करतूत में दारोगा वीरेंद्र त्रिपाठी के साथ दो महिला सिपाही भी शामिल थीं। इन्होंने ही महिला के घर में घुसकर उसे मारा-पीटा। बच्चे रोते रहे, मगर वे न माने और पीटते रहे।

हालांकि, ‘The Quint’ की रिपोर्ट में पुलिस के हवाले से कहा गया कि महिला ने महिला पुलिस कॉन्सटेबल से मारपीट की थी। जिस महिला की पिटाई की गई, वह फातिमा बानो हैं और वह भागीपुर गांव निवासी हैं। परिजन इस मसले को लेकर करीब 18 किमी दूर जिला पुलिस मुख्यालय भी गए, पर उनकी सुनवाई न हुई।

जमील अहमद ने अंग्रेजी न्यूज साइट से कहा- रविवार सुबह उप निरीक्षक वीरेंद्र त्रिपाठी जमीन के कागज मांगने आए थे। बहन ने दिए, तो उन्होंने फाड़ दिए और कहा कि घर हम बनवाएंगे। कुछ देर बाद वह तीन महिला कॉन्सटेबल साथ ले आए और बहन की पिटाई कराई। फिर पुलिस स्टेशन ले गए। वहां भी उससे मारपीट हुई। मेरे काम पर जाने के बाद उप निरीक्षक घर जाकर महिलाओं को डराते धमकाते थे। मैंने एसओ से शिकायत की, पर कोई मदद न मिली।

पीड़िता के भाई के मुताबिक, “जमीन विवाद को लेकर हमारा 10 साल से केस चल रहा है। ये लोग जिले में जमीन यूं ही हड़प लेते हैं। भूमाफिया शकीलुद्दीन की प्रशासन पर अच्छी पकड़ है, इसलिए पूर्व में मुझे जेल की हवा भी खानी पड़ी थी। तब भी इन लोगों ने जमीन का कुछ हिस्सा कब्जा लिया था और तभी से केस चल रहा है।”

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बिहार चुनाव में बीजेपी के लिए क्यों वीआईपी हो गए मुकेश सहनी, समझिए गणित
2 J&K भाजपा प्रमुख बोले-अब अक्साई चीन, गिलगित बाल्टिस्तान को आजाद कराने का वक्त
3 ये क्या आइटम हैं…मैं इनका क्या नाम लूं, भाजपा महिला उम्मीदवार पर पूर्व सीएम कमलनाथ के बिगड़े बोल
ये पढ़ा क्या?
X