ताज़ा खबर
 

केरल: हादिया का केस लड़ने के लिए इस्‍लामिक संस्‍था ने खर्च कर दिए 1 करोड़ रुपए

फिलहाल हादिया और शफीं सलेम के मेडिकल कॉलेज में अपनी होम्योपैथी की पढ़ाई पूरी कर रहे हैं। दो दिन पहले शफीं और हादिया संगठन के हेडक्वार्टर पहुंचे थे, जहां पर उन्होंने उनकी मदद करने के लिए इस्लामिक संस्था को शुक्रिया कहा।

Author तिरुवनंतपुरम | Updated: March 28, 2018 6:20 PM
शफीं जहां और हदिया। (file photo)

केरल राज्य समिति की इस्लामिक संस्था पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया ने हादिया केस में करीब एक करोड़ रुपए का खर्चा किया है। 25 वर्षीय हादिया उर्फ हिंदू महिला अखिला ने मुस्लिम युवक शफीं जहां से शादी करने के बाद साल 2015 इस्लाम धर्म अपना लिया था। इसके बाद से ही अखिला के परिजन शफीं पर लव जिहाद का आरोप लगा रहे थे और उसके खिलाफ केस भी कर दिया गया था। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट हादिया और शफीं की शादी को वैध करार दे चुका है। इस्लामिक संगठन के अनुसार,  24 मई, 2017 में जब केरल हाईकोर्ट ने हादिया और शफीं की शादी को अवैध करार दे दिया था तो शफीं ने कोर्ट के फैसले के खिलाफ संगठन से संपर्क कर मदद मांगी थी।

हाईकोर्ट के फैसले को दरकिनार करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने 8 मार्च, 2018 को इस केस की सुनवाई के दौरान शफीं और हादिया की शादी को वैध बताया था। द पायोनियर की रिपोर्ट के अनुसार, संगठन का कहना है कि उन्होंने शफीं और हादिया के लिए कानूनी लड़ाई लड़ने के लिए 99,52,324 रुपए खर्च किए हैं। फिलहाल, हादिया और शफीं सलेम के मेडिकल कॉलेज में अपनी होम्योपैथी की पढ़ाई पूरी कर रहे हैं। दो दिन पहले शफीं और हादिया संगठन के हेडक्वार्टर पहुंचे थे, जहां पर उन्होंने उनकी मदद करने के लिए इस्लामिक संस्था को शुक्रिया कहा।

पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया की अपनी कैलकुलेशन के मुताबिक, दोनों का केस लड़ने वाले चार वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल, दुष्यंत दवे, इंदिरा जयसिंह और मार्जूक बफाकी की फीस पर संस्था ने 93,85,000 रुपए खर्च किए हैं। कागजी कार्य के लिए वकील हैरिस बीरन को पचास हजार रुपए दिए गए तो वहीं इस केस से जुड़े लोगों के आने-जाने पर 5,17,324 रुपए का खर्चा हुआ है। पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया ने पिछले साल अक्टूबर में राज्य में घूमते हुए शफीं और हादिया के लिए फंड जुटाया था। उन्होंने 80,40,405 रुपए जमा किए थे। बैंक अकाउंट से जो फंड आया था, उसे मिलाकर यह रकम 81,61,245 रुपए हो गई थी। इसके अलावा भी संस्था ने अपने फंड से पैसा इस केस में लगाया  था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 कर्नाटक: लिंगायत वोटों के जुगाड़ में लगी बीजेपी को झटका, चित्रदुर्ग मठ के महंत ने अमित शाह को लिखी चिट्ठी में की सिद्धारमैया की तारीफ
2 भाजपा की दलित सांसद ने नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोला, 1 अप्रैल को लखनऊ में करेंगी रैली
3 राहुल गांधी ने जब मैसूर की पगड़ी पहनने से मना कर दिया, BJP सांसद ने पोस्‍ट किया वीडियो