scorecardresearch

केरल: राहुल गांधी के दफ्तर में महात्‍मा गांधी की तस्‍वीर को नुकसान पहुंचाने के मामले में उनके ही ऑफिस असिंस्टेंट समेत चार कांग्रेसी गिरफ्तार

Kerela News: कांग्रेस ने राहुल गांधी के दफ्तर पर हमले के लिए केरल के मुख्यमंत्री को जिम्मेदार बताया था। कांग्रेस नेता श्रीनिवास बीवी ने आरोप लगाया था कि आखिर केरल के मुख्यमंत्री इस तरह के उपद्रवियों को संरक्षण क्यों दे रहे हैं।

केरल: राहुल गांधी के दफ्तर में महात्‍मा गांधी की तस्‍वीर को नुकसान पहुंचाने के मामले में उनके ही ऑफिस असिंस्टेंट समेत चार कांग्रेसी गिरफ्तार
कांग्रेस सांसद राहुल गांधी (फोटो सोर्स: PTI)।

Kerela News: केरल में राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के वायनाड ऑफिस में रखी महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) की तस्वीर को नुकसान पहुंचाने के आरोप में कांग्रेस के चार कार्यकर्ताओं को शुक्रवार (19 अगस्त) को गिरफ्तार किया गया। कलपेट्टा पुलिस का कहना है कि इसमें राहुल का स्टाफ भी शामिल है।

गिरफ्तार किए गए कांग्रेसियों की पहचान वी नौशाद, के ए मुजीब, एस आर राहुल और के आर रतीश कुमार के रूप में हुई है। रतीश कुमार राहुल गांधी के कार्यालय सहायक हैं। विपक्षी दल ने गिरफ्तारी को राजनीति से प्रेरित बताया। हालांकि, राहुल गांधी ने अभी तक इस मामले में कोई भी स्टेटमेंट नहीं दिया है।

SFI के सदस्यों ने राहुल के कार्यालय में तोड़फोड़ की थी: यह घटना 24 जून 2022 की है, जब सीपीएम छात्रसंघ (SFI) के सदस्यों ने वायनाड में कांग्रेस सांसद के कार्यालय में तोड़फोड़ की थी। इस घटना के दौरान राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की तस्वीर भी उपद्रवियों ने तोड़ दी थी। जिसके बाद कांग्रेस ने आरोप लगाया था कि एसएफआई के लोगों ने तस्वीर को नुकसान पहुंचाया है। पार्टी ने कहा था कि SFI के गुंडों ने पार्टी कार्यालय में मौजूद स्टाफ से मारपीट भी की है। वहीं सीपीएम ने इसके लिए कांग्रेस कार्यकर्ताओं को जिम्मेदार ठहराया था।

इस तोड़फोड़ का वीडियो भी सामने आया था, जिसमें दिखाई दे रहा था कि वायनाड में कुछ लोग राहुल गांधी के दफ्तर की खिड़कियों पर चढ़ गए और तोड़फोड़ शुरू कर दी। हाथों में SFI के झंडे लिए कुछ लोग दफ्तर के अंदर तक पहुंच गए थे। वहां इन लोगों ने नारेबाजी की और सामान भी तोड़ दिया।

कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर आरोप: मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने 2 जुलाई 2022 को विधानसभा में बताया था कि पुलिस ने उन सभी एसएफआई कार्यकर्ताओं को हटा दिया है, जो राहुल गांधी के कार्यालय में घुस आए थे। जब पुलिस के फोटोग्राफर ने घटना स्थल की तस्वीरें क्लिक कीं, तो गांधी जी की तस्वीर दीवार पर बरकरार थी। उन्होंने कहा, “एसएफआई कार्यकर्ताओं को हटाए जाने के बाद कांग्रेस कार्यकर्ता कार्यालय के अंदर थे। बाद में शाम को जब पुलिस फोटोग्राफर ने दोबारा अपराध स्थल की तस्वीरें खींची, तो चित्र क्षतिग्रस्त हालत में जमीन पर पड़ा मिला।”

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट