scorecardresearch

यौन उत्पीड़न मामले में दिन में हुए गिरफ्तार, शाम को मिल गई बेल; कहानी केरल के धाकड़ नेता पीसी जॉर्ज की

केरल के पूर्व विधायक पी सी जॉर्ज को कैंट पुलिस ने शनिवार को गेस्ट हाउस से गिरफ्तार किया था। शाम को उनको जमानत दे दी गई। उन पर IPC की धारा 354 (A) यौन उत्पीड़न के तहत मामला दर्ज किया गया है।

PC George | sexual assault case | Kerala Trivandrum court
पूर्व विधायक पी सी जॉर्ज। ( फोटो सोर्स: File/ANI)।

त्रिवेंद्रम की एक अदालत ने पूर्व विधायक पीसी जॉर्ज को जमानत दे दी। जॉर्ज को सोलर पैनल मामले में एक आरोपी द्वारा दायर यौन उत्पीड़न की शिकायत के आधार पर शनिवार को गिरफ्तार किया गया था, जो एक घोटाले के भी आरोपी हैं।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि जॉर्ज के खिलाफ सोलर पैनल मामले की एक आरोपी ने यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाया है। इसी शिकायत को आधार बनाते हुए उनकी गिरफ्तारी हुई है। पीड़ित महिला ने अपनी शिकायत में कहा है कि पीसी जॉर्ज ने इसी साल 10 फरवरी को अपने एक गेस्ट हाउस में बुलाया था। यहीं उसका यौन उत्पीड़न हुआ। पीड़िता का कहना है कि गेस्ट हाउस में मुलाकात के बाद से ही जॉर्ज उन्हें आपत्तिजनक मैसेज भेज रहे थे।

मिली शिकायत पर कार्रवाई करते हुए कैंटोनमेंट पुलिस ने जॉर्ज को एक गैस्ट हाउस से गिरफ्तार कर लिया है। यह वही गेस्ट हाउस है, जहां क्राइम ब्रांच की टीम भी उनसे सोना तस्करी को लेकर पूछताछ कर रही थी। पीसी जॉर्ज के खिलाफ आईपीसी की धारा 354 (ए) के तहत मामला दर्ज किया गया है।

हालांकि, नेता ने आरोपों का खंडन किया और दावा किया है कि उन्होंने कोई अश्लील हरकत नहीं की और शिकायत झूठी है। कांग्रेस नीत यूडीएफ सरकार में पूर्व मुख्य सचेतक रहे जॉर्ज ने कहा कि आरोपी ने अब इसलिए शिकायत दर्ज कराई है क्योंकि उन्होंने उस मामले में उसके पक्ष में बयान नहीं दिया जो (पीड़ित महिला आरोपी ने) पूर्व मुख्यमंत्री ओमान चांडी के विरुद्ध दर्ज कराया था।

पुलिस थाने के बाहर जॉर्ज ने संवादाताओं से बात करते हुए एक महिला टीवी पत्रकार का अपमान कर फिर से विवाद खड़ा कर दिया, जो आरोपी का नाम लेने पर उनसे सवाल पूछ रही थी। यौन उत्पीड़न की शिकार हुई महिला का नाम लेना गैरकानूनी है। पत्रकारों के अलावा माकपा के नेता और शिक्षा मंत्री वी शिवनकुट्टी ने भी जॉर्ज की इस हरकत की निंदा की है। जॉर्ज ने हालांकि, जमानत हासिल करने के बाद अदालत से बाहर आने पर महिला पत्रकार से माफी मांगी।

इससे पहले भी जॉर्ज हो चुके हैं गिरफ्तार
पी.सी जॉर्ज के गिरफ्तारी का यह कोई पहला मामला नहीं है। इससे पहले पुलिस ने उन्हें मई में गिरफ्तार किया था। उस वक्त उन्हें मुस्लमानों के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने के मामले में गिरफ्तार किया गया था। उन्हें IPC की धारा 153A के तहत गिरफ्तार किय गया था। बाद में उन्हें मजिस्ट्रेट न्यायलय से जमानत मिल गई थी।

जमानत के बाद जॉर्ज ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा था कि मैंने किसी के भी धार्मिक भावनाओं को ठेस नहीं पहुंचाया है। मैंने अपने भाषण में कहा था कि वह लोग जो इस देश से प्यार नहीं करते जो कट्टरपंथियों के समर्थन में उतरते है वैसे लोगों को मैं वोट नहीं देना चाहता ना ही मैं उनके साथ कभी खड़ा होउंगा। यह बयान मुझे किसी धर्म के खिलाफ कैसे बनाता है। उन्होंने कहा कि मेरी गिरफ्तारी उन मुस्लिम कट्टरपंथियों के लिए रामजान का तोहफा है जिसे पिनाराई विजयन ने दिया है। 70 वर्षीय जॉर्ज विधानसभा में पूंजर निर्वाचन क्षेत्र का 33 वर्षों से प्रतिनिधित्व कर रहे हैं।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

X