ताज़ा खबर
 

18 साल से घर-घर दूध पहुंचाती थीं, मेयर बनीं तो भी नहीं छोड़ी जिम्‍मेदारी

अजीथा विजयन के राजनैतिक जीवन की शुरुआत साल 1999 में सीपीआई की प्राथमिक सदस्यता ग्रहण करने के साथ हुई थी। इसके बाद से वह दो बार साल 2005 और 2015 में सभासद चुनी जा चुकी हैं।

thrissur mayorथ्रिशूर की मेयर अजीथा विजयन। (image source-Youtube/video grab image)

राजनीति में कई ऐसे नेता हैं, जो एक आम जिंदगी से सत्ता के गलियारों में पहुंचे हैं। सत्ता के गलियारों में पहुंचने के साथ ही इन नेताओं ने अपने उस अतीत को भी पीछे छोड़ दिया। लेकिन हाल ही में केरल के थ्रिशूर की मेयर चुनी गईं अजीथा विजयन इस मामले में सबसे अलग हैं। दरअसल अजीथा विजयन राजनीति में सक्रिय रहने के साथ ही बीते 18 सालों से लोगों के घर-घर जाकर उन्हें दूध के पैकेटों की सप्लाई भी कर रही हैं। बीते बुधवार को वह थ्रिशूर की मेयर चुनी गईं, लेकिन आम दिनों की तरह अजीथा अभी भी हर दिन लोगों के घर दूध के पैकेट पहुंचा रही हैं। द टेलीग्राफ की खबर के अनुसार, अजीथा, (48 वर्ष) का कहना है कि ‘दूध की सप्लाई बंद करने का उनका कोई इरादा नहीं है। मेयर पद अस्थायी है, लेकिन मेरी आजीविका दूध की डिलीवरी से चलती है।’

अजीथा विजयन के राजनैतिक जीवन की शुरुआत साल 1999 में सीपीआई की प्राथमिक सदस्यता ग्रहण करने के साथ हुई थी। इसके बाद से वह दो बार साल 2005 और 2015 में सभासद चुनी जा चुकी हैं। उल्लेखनीय है कि थ्रिशूर के मेयर पद के लिए सीपीआई और सीपीएम के बीच समझौता हुआ था, जिसके तहत पहले तीन साल तक मेयर पद सीपीएम के पास रहा। अब यह पद सीपीआई के पास आया है। जिसके लिए सीपीआई ने अजीथा विजयन पर भरोसा जताया है। अजीथा के अनुसार, उन्होंने दूध की सप्लाई का काम परिवार की कमाई में इजाफा करने की उम्मीद से शुरु किया था। अजीथा ने केरल के मशहूर मिलमा ब्रांड की स्थानीय एजेंट हैं। जिन्हें केरल को-ऑपरेटिव मिल्क मार्केटिंग फेडरेशन द्वारा दूध के पैकेट सप्लाई किए जाते हैं, जिन्हें अजीथा अपने स्कूटर पर सवार होकर लोगों के घर सप्लाई करती हैं।

12वीं तक पढ़ीं अजीथा दूध की सप्लाई कर एक महीने में 10 हजार रुपए कमाती हैं। वहीं मेयर बनने के बाद उन्हें भत्ते के रुप में 18000 रुपए मिलेंगे। अजीथा का कहना है कि दूध सप्लाई से उन्हें लोगों की समस्या समझने में मदद मिलती है। अजीथा का दिन सुबह 4 बजे शुरु होता है। मेयर के रुप में अपनी जिम्मेदारी निभाने और दूध सप्लाई के सवाल पर अजीथा विजयन ने कहा कि वह सुबह 4 बजे से लेकर कुछ ही घंटे में दूध की सप्लाई कर देती हैं, जिसके बाद पूरा दिन वह बतौर मेयर काम कर सकती हैं। अजीथा ने बताया कि यदि उन्हें पार्टी के काम से कहीं जाना हुआ तो वह एक दिन पहले ही दूध की सप्लाई कर देती हैं। मेरे ग्राहक भी इसमें कॉ-ऑपरेट करते हैं क्योंकि सभी के घरों में फ्रिज है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बीजेपी की नसीहत- कहा, पर्रिकर के स्वास्थ्य को लेकर राजनीति न करे कांग्रेस
2 यूपी-बिहार वालों को अपने राज्य में नौकरी नहीं देना चाहते कानपुर में जन्मे यह मुख्यमंत्री!
3 मध्य प्रदेश: CM बनते ही एक्शन में दिखे कमलनाथ, अफसरों को दी सख्त हिदायत
ये पढ़ा क्या?
X