ताज़ा खबर
 

केरल: नौकरी से निकाले गए 3861 ट्रांसपोर्ट कर्मचारियों का अनोखा विरोध प्रदर्शन, सचिवालय के बाहर मनाया पोंगल

दो महीने पहले स्टेट ट्रांसपोर्ट ने केरल हाई कोर्ट के आदेश के बाद कुल 3861 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया था। जिसके विरोध में पूर्व कर्मचारी सचिवालय के सामने धरना पर बैठे है।

Author Published on: February 20, 2019 5:34 PM
केरल के त्रिवेंद्रम सचिवालय के सामने प्रसाद बनाकर पोंगल मनाते पूर्व कर्मचारी ( फोटो सोर्स : ANI )

केरल स्टेट रोड ट्रांसपोर्ट कॉर्पोरेशन (KSRTC) के 150 पूर्व कर्मचारियों ने काम से निकाले जाने के विरोध में त्रिवेंद्रम सचिवालय के सामने प्रसाद बनाकर पोंगल मनाया। दो महीने पहले स्टेट ट्रांसपोर्ट ने केरल हाई कोर्ट के आदेश के बाद कुल 3861 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया था। इसके विरोध में पूर्व कर्मचारी सचिवालय के सामने धरने पर बैठे हैं और दूसरी तरफ विरोध प्रकट करने के लिए सचिवालय के दूसरी तरफ सड़क पर प्रसाद बनाया और त्योहार मनाया।

क्या है पूरा मामला: दो महीने पहले केरल हाई कोर्ट ने राज्य सरकार को 3861 स्टेट ट्रांसपोर्ट कर्मचारियों को निकालने का आदेश दिया था। कोर्ट ने राज्य सरकार को आदेश देते हुए कहा कि केवल जिन्होंने लोक सेवा आयोग की परीक्षा पास की है उन्हें ही नौकरी मिलेगी। बता दें कि नौकरी से निकाले हुए सभी कर्मचारियों की डायरेक्ट भर्ती हुई थी। डायरेक्ट भर्ती के खिलाफ हाई कोर्ट में याचिका दायर की गई थी। कोर्ट ने राज्य सरकार को फैसला सुनाते हुए कर्मचारियों को निकालने का आदेश दिया था।

 

पूर्व कर्मचारियों का विरोध : कोर्ट और स्टेट ट्रांसपोर्ट के फैसले के बाद पूर्व कर्मचारी पिछले एक महीने से त्रिवेंद्रम सचिवालय के पास विरोध कर रहे हैं। विरोध को रोकने के लिए अधिकारियों ने उनके विरोधस्थल को भी तहस-नहस कर दिया है। जिसके बाद पूर्व कर्मचारियों ने सचिवालय के सामने प्रसाद बनाकर महिलाओं का सबरीमाला कहा जाने वाला अट्टुकल पोंगल त्योहार मनाया। विरोध कर रहे इन पूर्व कर्मचारियों ने सरकार से नौकरी वापस देने की मांग की है। उन लोगों का कहना है कि कोर्ट का फैसला तब आया जब वो लोग 30 से 40 साल तक नौकरी कर चुके हैं। ऐसे में उन लोगों को निकाल दिए जाने पर उन्हें दूसरी नौकरी कहां मिलेगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories