ताज़ा खबर
 

केरल: 2 दिन की बच्‍ची को टॉयलेट में फ्लश कर दिया, प्‍लंबर ने निकाली लाश

शुक्रवार दोपहर को जब प्लंबर कमोड क्लीन कर रहा था, तभी उसने देखा कि एक नवजात बच्चे का सिर कमोड के पाइप में फंसा हुआ था। इसके बाद डॉ. अब्दुल रहमान ने तुरंत मामले की जानकारी स्थानीय पुलिस को दी।

प्लंबर ने कमोड से नवजात के शव को निकाला। (image source-PTI) (प्रतीकात्मक तस्वीर)

केरल के पेरिंथामन्ना इलाके में एक चौंकाने वाले मामला सामने आया है। दरअसल यहां एक 2 दिन की नवजात बच्ची को टॉयलेट कमोड में फ्लश कर दिया गया। घटना का पता तब चला, जब कमोड जाम होने के बाद प्लंबर को बुलाया गया और फिर प्लंबर ने बच्ची की बॉडी को कमोड से निकाला। स्थानीय पुलिस के अनुसार, मामला शुक्रवार का है। दरअसल डॉ अब्दुल रहमान और उनकी डॉक्टर पत्नी पेरिंथामन्ना इलाके में स्थित अपने घर के पास ही एक क्लीनिक चलाते हैं। गुरुवार को क्लीनिक की साफ-सफाई करने वाली महिला ने देखा कि क्लीनिक के टॉयलेट का कमोड जाम हो गया है और उसमें पानी भर गया है। इस पर महिला ने डॉ. अब्दुल रहमान को इस बात की जानकारी दी।

डॉ. अब्दुल रहमान ने इस पर एक प्लंबर को फोन करके कमोड क्लीन करने के लिए बुलाया। शुक्रवार दोपहर को जब प्लंबर कमोड क्लीन कर रहा था, तभी उसने देखा कि एक नवजात बच्चे का सिर कमोड के पाइप में फंसा हुआ था। इसके बाद डॉ. अब्दुल रहमान ने तुरंत मामले की जानकारी स्थानीय पुलिस को दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर नवजात बच्चे की बॉडी को रिकवर किया। पुलिस ने बच्ची के शव को फिलहाल पोस्टमार्टम के लिए थरिसूर मेडिकल कॉलेज भेज दिया है। पुलिस का कहना है कि वह मामले की जांच कर रही है, लेकिन शुरुआती जांच में लग रहा है कि डॉक्टर दंपति के क्लीनिक आने वाली महिला ने बच्चे के टॉयलेट में फ्लश किया है। बहरहाल जांच अभी जारी है।

बता दें कि इससे पहले हाल ही में फरवरी माह में दिल्ली से भी ऐसी ही खबर आयी थी। जहां एक महिला ने अपनी 25 दिन की बच्ची को कूड़े में फेंक दिया था। जिससे बच्चे की मौत हो गई थी। घटना के बाद पुलिस ने आरोपी महिला को गिरफ्तार कर लिया था। महिला ने पुलिस पूछताछ में बताया कि वह लड़की होने के कारण गुस्से में आ गई थी और इसी गुस्से में उसने बच्ची को कूड़े में फेंक दिया। बता दें कि जब पुलिस ने बच्ची को कूड़े के ढेर से बरामद किया था, उस वक्त उसकी सांसे चल रही थी, जिसके बाद पुलिस ने बच्ची को तुरंत अस्पताल पहुंचाया, लेकिन अस्पताल जाने के कुछ समय बाद ही बच्ची की मौत हो गई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App