ताज़ा खबर
 

कठुआ गैंगरेप पर किया पोस्ट- अच्‍छा हुआ उसे मार दिया

कोच्चि स्थित एक ब्रांच में असिस्टेंट मैनेजर पद पर तैनात विष्णु नंदकुमार नाम के इस शख्स ने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा, 'यह अच्छा है कि वह (रेप पीड़िता) मर गई। अगर ऐसा न होता तो बाद में वह भारत के खिलाफ एक बम बनकर लौटती।'

कोटक महिंद्रा बैंक के कोच्चि में अपने असिस्टेंट ब्रांच मैनेजर की तस्वीर। (image source-Twitter)

कोटक महिंद्रा बैंक ने शुक्रवार को अपने एक कर्मचारी को नौकरी से बाहर का रास्ता दिखा दिया। बैंक ने इस एक्शन के पीछे की वजह कर्मचारी की खराब परफॉर्मेंस को जिम्मेदार बताया है। हालांकि, इससे नौकरी से बर्खास्त किए गए इस कर्मचारी के एक सोशल मीडिया पोस्ट पर खासा बवाल हो गया था। इस शख्स ने 8 साल की कठुआ गैंगरेप पीड़ित को लेकर बेहद असंवेदनशील और अभद्र टिप्पणी की थी। उसके पोस्ट पर सोशल मीडिया यूजर्स ने तीखी प्रतिक्रिया दी थी और बैंक को उसके खिलाफ एक्शन लेने के लिए कहा था। उधर, विष्णु के पिता ईएन नंदकुमार ने दावा किया है कि उनके बेटे ने नई नौकरी मिलने की वजह से बैंक से एक महीने पहले ही इस्तीफा दे दिया था। विष्णु के पिता एक आरएसएस नेता हैं। उन्होंने कहा कि विष्णु ने अपनी गलती मान ली है और अपने फेसबुक पेज पर माफी भी मांगी है। दरअसल, कोच्चि स्थित एक ब्रांच में असिस्टेंट मैनेजर पद पर तैनात विष्णु नंदकुमार नाम के इस शख्स ने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा, ‘यह अच्छा है कि वह (रेप पीड़िता) मर गई। अगर ऐसा न होता तो बाद में वह भारत के खिलाफ एक बम बनकर लौटती।’

HOT DEALS
  • Moto C 16 GB Starry Black
    ₹ 5999 MRP ₹ 6799 -12%
    ₹0 Cashback
  • Honor 9 Lite 64GB Glacier Grey
    ₹ 13975 MRP ₹ 16999 -18%
    ₹2000 Cashback

बताया जा रहा है कि विष्णु ने इस पोस्ट पर लोगों की तीखी प्रतिक्रिया देखने के बाद अपने अकाउंट को डिएक्टिवेट कर दिया। वहीं, कोटक महिंद्रा बैंक ने शुक्रवार को अपने फेसबुक पेज पर लिखा, ‘हमने विष्णु नंदकुमार को खराब परफॉर्मेंस की वजह से बैंक की सेवाओं से 11 अप्रैल बुधवार को बर्खास्त कर दिया है। यह देखना बेहद दुखद है कि इस तरह की त्रासदीपूर्ण घटना के बाद कोई ऐसी टिप्पणियां करे, भले ही वह एक पूर्व कर्मचारी हो। हम इस बयान की कड़ी निंदा करते हैं।’ विष्णु की टिप्पणी के बाद सोशल मीडिया पर लोगों का गुस्सा भड़क उठा था। लोग बैंक के टि्वटर हैंडल को टैग करके #Dismiss_your_manager हैशटैग ट्रेंड कराने लगे थे। इसके अलावा, इस शख्स पर एक्शन की मांग को लेकर कोच्चि स्थित ब्रांच के सामने पोस्टर भी लगे थे। बता दें कि कठुआ में एक 8 साल की बच्ची को अगवा करके हफ्ते भर एक मंदिर में रखा गया। हत्या करने से पहले वहां कई लोगों ने इस बच्ची को अपनी हवस का शिकार बनाया। आम लोगों से लेकर सेलिब्रिटीज तक

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App