ताज़ा खबर
 

आरएसएस के दफ्तर पर पुलिस का छापा, जब्त किए हथियार

पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर आरएसएस दफ्तर पर छापेमारी की। पता चला कि प्रवीण ने पुलिस स्टेशन पर हमले के बाद वहां शरण ली। छापेमारी के दौरान पुलिस ने चाकू और खंजर भी सीज किए हैं।

Author January 10, 2019 12:12 PM
तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है। (इंडियन एक्सप्रेस फाइल फोटो)

केरल पुलिस ने बुधवार (9 जनवरी, 2018) को नेदुमंगद में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के एक दफ्तर में छापेमारी के दौरान हथियार बरामद किए हैं। पुलिस ने बताया कि छापेमारी पिछले सप्ताह नेदुमंगद के स्थानीय पुलिस स्टेशन पर कथित तौर पर आरएसएस कार्यकर्ताओं के हमले के बाद की गई। ये लोग सबरीमला एक्शन काउंसिल के बैनर तले सबरीमला मंदिर में दो महिलाओं के प्रवेश के विरोध में राज्य में प्रदर्शन कर रहे थे। सीसीटीवी फुटेज से पता चला कि आरएसएस का जिला प्रचार प्रवीण पुलिस स्टेशन पर बम से हमला कर रहा था। घटना को अंजाम देकर तब वह वारदात स्थल से फरार हो गया। सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर आरएसएस दफ्तर पर छापेमारी की। पता चला कि प्रवीण ने पुलिस स्टेशन पर हमले के बाद वहां शरण ली। छापेमारी के दौरान पुलिस ने चाकू और खंजर भी सीज किए हैं।

जानना चाहिए कि सबरीमला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश के विरोध में 5 जनवरी को भाजपा-आरएसएस और सत्तारूढ़ माकपा कार्यकर्ताओं की हिंसा में राजनीतिक रूप से संवेदनशील उत्तरी केरल का कन्नूर जिला झुलसता रहा। इसी दौरान आरएसएस के जिला प्रचारक का एक सीसीटीवी फुटेज सामने आया। जिसमें आरएसएस प्रचारक नेदुमंगद पुलिस स्टेशन में बम से हमला कर रहा है। टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक इस हमले में कम से कम पांच लोग घायल हो गए।

करीब एक मिनट की इस फुटेज में नजर आ रहा है कि शख्स हाथ में बम लेकर पुलिस स्टेशन पर फेंक रहा है। उसके साथ कुछ लोग और भी नजर आ रहे हैं। शख्स कई बार बम फेंकता था। मामले में तब पुलिस ने बताया कि माकपा विधायक ए एन शमसीर के मदापीडिकाइल, भाजपा नेता एवं राज्यसभा सांसद वी मुरलीधरन के वदियिल पीड़िकिया और माकपा के कन्नूर जिला के पूर्व सचिव पी शशि के तलासेरी स्थित घरों समेत कई जगह पर शनिवार तड़के बम फेंके गए। (जनसत्ता ऑनलाइन इनपुट सहित)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App